गुरूवार, जून 20, 2024
गुरूवार, जून 20, 2024

होमFact Checkराजस्थान में महिला को निर्वस्त्र करने की पुरानी घटना का वीडियो जातीय...

राजस्थान में महिला को निर्वस्त्र करने की पुरानी घटना का वीडियो जातीय एंगल से वायरल

Claim
राजस्थान में ऊंची जाति के अपराधियों ने घर में घुसकर किया दलित महिला का रेप.

Fact
इस घटना का मुख्य आरोपी महिला का पति ही था.

सोशल मीडिया पर दिल दहला देने वाला एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक व्यक्ति द्वारा एक महिला को निर्वस्त्र करने का प्रयास किया जा रहा है. इस दौरान महिला चीखती चिल्लाती भी नज़र आ रही हैं, लेकिन उन व्यक्तियों पर कोई असर नहीं होता नज़र आ रहा है.

वीडियो को इस दावे से शेयर किया जा रहा है कि यह घटना राजस्थान की है, जहां ऊंची जाति से आने वाले अपराधियों ने दलित महिला के घर में घुसकर उसके साथ रेप किया.

हालांकि हमने अपनी जांच में पाया कि यह वीडियो राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले के चार महीने पुरानी घटना का है, जहां पारिवारिक विवाद में एक पति ने अपनी पत्नी को गांव वालों के सामने निर्वस्त्र कर दिया था. पुलिस ने इस मामले में महिला के पति सहित कई अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया था.

क़रीब 37 सेकेंड के इस वीडियो को X (पूर्व में ट्विटर) पर ख़ास कैप्शन के साथ शेयर किया गया है, जिसमें लिखा हुआ है “ राजस्थान में ऊंची जाति के इन अपराधियों ने दलित महिला के घर घुस किया बलात्कार. यह वहशी दरिंदे छोटी जाति की निहत्ती महिलाओं को ही क्यों नोच खाने को उतावले हुए रहते हैं?”     

राजस्थान में महिला को निर्वस्त्र करने का पुराना वीडियो वायरल
  Courtesy: X/KavitaWrites

Fact Check/Verification

Newschecker ने वायरल दावे की पड़ताल के लिए सबसे पहले वीडियो के कीफ्रेम की मदद से रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें 2 सितंबर 2023 को प्रकाशित रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में वायरल वीडियो भी मौजूद था.

Courtesy: Dainik Bhaskar

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, यह घटना राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले के धरियावाद की थी. जहां 31 अगस्त 2023 को एक महिला के पति ने गांव वालों के सामने उसे निर्वस्त्र कर 1 किलोमीटर तक घुमाया था. दरअसल शादी के छह महीने बाद उक्त महिला किसी युवक के साथ कहीं चली गई थी. साल भर बाद जब उक्त महिला लौटी तो उसके ससुराल वाले उसे जबरदस्ती अपने गांव ले आए.

गांव लाने के बाद महिला के पति ने ग्रामीणों के सामने ही उसको निर्वस्त्र किया और घुमाया. महिला ने इस दौरान वहां मौजूद लोगों से छोड़ने की गुहार भी लगाई, लेकिन किसी ने नहीं बचाया. इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने इस मामले में 10 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया था. रिपोर्ट में यह भी बताया था कि तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पीड़िता से बात कर सरकारी नौकरी और 10 लाख मुआवजे देने का ऐलान भी किया था.

जांच में हमें आजतक की वेबसाइट पर भी 2 सितंबर 2023 को प्रकाशित की गई इस घटना से संबंधित रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट में यह बताया गया था कि राजस्थान पुलिस ने 12 घंटे में मुख्य आरोपी महिला के पति समेत अन्य सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था. मुख्य आरोपी कान्हा पुत्र लालिया के अलावा नाथू पुत्र नगजी मीणा, वेणिया पुत्र भेरा, पिन्टू पुत्र भेरीया, खेतिया पुत्र लेम्बिया मीणा, मोती लाल पुत्र रामा मीणा, पुनिया पुत्र बाबरीया मीणा, केसरा पुत्र मानेंग मीणा, सुरज पुत्र केसरा और नेतिया पुत्र पांचिया को गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने इस मामले में एक नाबालिग को भी डिटेन किया था.

Courtesy: AAJ TAK

इस दौरान हमें मिली बीबीसी की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया था कि पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 323, 341, 342, 354, 354 ख, 294, 365, 120, 504, 506, 498 ए, 509, महिलाओं का अश्लील प्रतिनिधित्व निषेध अधिनियम की धारा 4/6 और आईटी एक्ट की धारा 77ए के तहत एफआईआर दर्ज किया था. रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से कुछ आदिवासियों में चलने वाली नाता प्रथा को घटना कारण बताया गया था.

Courtesy: BBC

नाता प्रथा के अनुसार, आदिवासी महिला अपने पति को छोड़कर किसी अन्य पुरुष के साथ रह सकती है. वहीं पुरुष भी किसी अन्य विवाहित महिला को अपनी पत्नी के रूप में रख सकता है. पीड़िता की शादी सबसे पहले राजा नाम के शख्स से हुई थी. बाद में वह नाता प्रथा के अनुसार घटना के मुख्य आरोपी कान्हा के पास चली गई. बाद में महिला ने कान्हा को भी छोड़ दिया और शिवा नाम के व्यक्ति के पास चली गई. इसी से नाराज होकर कान्हा ने इस घटना को अंजाम दिया था.

हमें इसके अलावा अशोक गहलोत के आधिकारिक अकाउंट से 1 सितंबर 2023 को किया गया ट्वीट भी मिला. इस ट्वीट में उन्होंने इसे पारिवारिक विवाद बताया था. साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि इन अपराधियों से फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुक़दमा चलाकर सजा दिलवाई जाएगी.

Courtesy: X/ashokgehlot51

Conclusion

हमारी जांच में मिले साक्ष्यों से यह स्पष्ट है कि करीब 4 महीने पुरानी राजस्थान की इस घटना में कोई जातीय एंगल नहीं है. इस मामले में मुख्य आरोपी उक्त महिला का पति ही था. 

Result: False

Our Sources
Report Published by Dainik Bhaskar on 2nd Sep 2023
Report Published by Aaj Tak on 2nd Sep 2023
Report Published by BBC on 2nd Sep 2023
Tweet from Former Rajasthan CM X account on 1st Sep 2023

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular