सोमवार, अगस्त 15, 2022
सोमवार, अगस्त 15, 2022

होमFact Checkक्या तमिलनाडु में रुद्राक्ष की माला पहनने पर ईसाई शिक्षक ने छात्र...

क्या तमिलनाडु में रुद्राक्ष की माला पहनने पर ईसाई शिक्षक ने छात्र को बेरहमी से पीटा?

तमिलनाडु में 1 सितंबर से कक्षा 9वीं से 12वीं तक के स्कूल फिर से खोले दिए गए थे। बता दें कि अभी छात्रों को व्यक्तिगत रूप से क्लास लेना अनिवार्य नहीं किया गया है। हालांकि, तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन ने घोषणा की है कि 1 नवंबर 2021 से पहली कक्षा से लेकर आठवीं कक्षा तक के स्कूल निर्देशानुसार एक बार फिर से खोले जाएंगे। इसी बीच हिंदी न्यूज़ चैनल सुदर्शन न्यूज़ (Sudarshan News) के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से 30 सेकेंड का एक वीडियो ट्वीट किया गया है। यह वीडियो किसी स्कूल के क्लास रूम का लग रहा है, जहां पर एक युवक एक बच्चे को डंडे और लातों से पीट रहा है। वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि तमिलनाडु के सरकारी स्कूल में इस हिंदू छात्र को इसलिए पीटा जा रहा है, क्योंकि वह रूद्राक्ष की माला पहनकर स्कूल में आया था। ईसाई शिक्षक ने छात्र की क्रूरता से पिटाई करते हुए स्कूल से भी भगा दिया। 

आर्टिकल लिखे जाने तक उपरोक्त वायरल ट्वीट पर 3600 से ज्यादा लोग रिट्वीट और 4 हज़ार से ज्यादा लोग लाइक कर चुके हैं। 

सुदर्शन न्यूज़ द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो को फेसबुक पर कई अन्य यूज़र्स द्वारा भी शेयर किया गया है।

Crowdtangle टूल पर किए गए विश्लेषण से पता चलता है कि वायरल दावे को सोशल मीडिया पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है। ‘धर्म रक्षा जागृति मिशन’ नामक फेसबुक पेज द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो को 5200 से ज्यादा लोग देख चुके हैं और 315 लोग शेयर कर चुके हैं। 

तमिलनाडु के स्कूल के वीडियो को सुदर्शन न्यूज़ ने गलत दावे के साथ किया शेयर
तमिलनाडु के स्कूल के वीडियो को सुदर्शन न्यूज़ ने गलत दावे के साथ किया शेयर

सुदर्शन न्यूज़ द्वारा ट्वीट किए गए वीडियो के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है। 

Fact Check/Verification

क्या तमिलनाडु के सरकारी स्कूल में रूद्राक्ष की माला पहनने पर ईसाई शिक्षक ने छात्र को बेहरमी से पीटा? इस दावे का सच जानने के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से गूगल सर्च किया। इस दौरान हमें 15 अक्टूबर 2021 को  BBC और Republic Bharat द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट मिली। प्राप्त रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के मुताबिक, तमिलनाडु (Tamil Nadu) के कुड्डालोर जिले (Cuddalore District) के चिंदबरम में एक शिक्षक द्वारा बारहवीं कक्षा के छात्र को बेरहमी से पीटने का मामला सामने आया था। वायरल हो रहा वीडियो चिंदबरम नंदनार बॉयज हाई स्कूल (Chidambaram Government Nandanar High School) का है। दरअसल छात्र क्लास बंक कर रहा था, जिसके चलते फिजिक्स टीचर (Physics Teacher) ने उसे उसे डंडे और लातों से बेहरमी से पीटा था। 

तमिलनाडु के स्कूल के वीडियो को सुदर्शन न्यूज़ ने गलत दावे के साथ किया शेयर
तमिलनाडु के स्कूल के वीडियो को सुदर्शन न्यूज़ ने गलत दावे के साथ किया शेयर

पड़ताल के अगल चरण में हमें 16 अक्टूबर 2021 को ANI और The Hindu द्वारा प्रकाशित की गई रिपोर्ट्स मिली। इन दोनों रिपोर्ट्स के मुताबिक, वीडियो रिकॉर्ड के आधार पर शिक्षक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि स्कूल के टीचर के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर रिमांड के लिए भेज दिया गया है। पीड़ित छात्र को चिंदबरम के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए छात्र के पिता ने सभी शिक्षकों से छात्रों को चोट ने पहुंचाने की अपील भी की। 

तमिलनाडु के स्कूल के वीडियो को सुदर्शन न्यूज़ ने गलत दावे के साथ किया शेयर
तमिलनाडु के स्कूल के वीडियो को सुदर्शन न्यूज़ ने गलत दावे के साथ किया शेयर

Read More: केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने नहीं अपनाया हिंदू धर्म, हिंदू संतों से मुलाकात का वीडियो गलत दावे के साथ वायरल

पड़ताल के दौरान हमें चेंगलपट्टू जिले के एसपी विजय कुमार के आधिकारिक हैंडल से किया गया एक ट्वीट मिला। ट्वीट के ज़रिए उन्होंने बताया कि, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है।

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने स्थानीय पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर अरूमुगम से संपर्क किया। Newschecker के साथ बातचीत में उन्होंने हमें बताया, “सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। वीडियो में नज़र आ रहे शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है। शिक्षक के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के तहत मामले दर्ज किया गया है।”

Conclusion

हमारी पड़ताल में साफ होता है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है। 


Result: Misleading


Our Sources

BBC 

Republic Bharat

ANI 

The Hindu

Police Verification


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular