शनिवार, जून 22, 2024
शनिवार, जून 22, 2024

होमFact Checkसीएम योगी आदित्यनाथ की एक साल पुरानी वीडियो क्लिप भ्रामक दावे के...

सीएम योगी आदित्यनाथ की एक साल पुरानी वीडियो क्लिप भ्रामक दावे के साथ की गई शेयर

Claim: 

देश की ऐसी स्थिति देख सीएम योगी आदित्यनाथ की आंखों में आंसू आ गए और बोले देश के मजदूरों का दर्द समझता हूं।

जानिए क्या है वायरल दावा:

हमारे व्हाट्सएप पर एक यूज़र द्वारा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की 14 सेकंड की एक वीडियो की सत्यता जानने की अपील की गई। इस वीडियो में सीएम योगी को भावुक होते हुए और आंसू पोंछते हुए देखा जा सकता है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि आज देश की ऐसी हालत देखकर सीएम योगी आदित्यनाथ की आंखों में आंसू आ गए और वो बोले मैं देश के गरीबों का दर्द समझता हूं। मजदूर भाइयों को ऐसी हालत में नहीं देख सकता हूं। उनको उनके घर पहुंचाउंगा और लॉकडाउन करना हमारी मजबूरी है। देश की सेवा की कसम खाई है, हर किसान के खाते में 1000 रूपए हर महीने दिए जाएंगे।

Verification:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट से निपटने के लिए देश में लॉकडाउन लागू किया हुआ है। COVID-19 और लॉकडाउन के बीच देश के मजदूर और गरीब लोग बदहाल हैं। हजारों की संख्या में देश के लोग दूसरी जगहों पर फंस गए हैं। यह लोग अपने परिवार को साथ लेकर पैदल घर की ओर चल पड़े हैं। वहीं 18 मई से देश में नए रंग रूप का लॉकडाउन लगाया जाएगा। लेकिन वह कितना अलग होगा फिलहाल इसकी कोई घोषणा नहीं की गई। 

कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने व्हाट्सएप पर वायरल हो रही वीडियो को खंगाला। नीचे देखा जा सकता है कि पड़ताल के दौरान हमें वायरल वीडियो से संबंधित कई परिणाम मिले।

वायरल वीडियो के पीछे की सत्यता जानने के लिए हमने Hindustan Times और Zee News द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट को देखा। लेख पढ़ने के बाद हमने जाना कि इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में सीएम योगी ने मन की बात के अंतर्गत युवाओं से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत की थी। इसी कार्यक्रम के दौरान एक छात्र ने सीएम योगी से पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर सवाल पूछा तो जवाब देने के दौरान वे पड़े थे। छात्र ने सीएम योगी से पूछा कि आखिर हमारी सुरक्षा एजेंसियां और सरकार क्या काम कर रही हैं? 

व्हाट्सएप पर केवल 14 सेंकड की वीडियो वायरल हो रही है। पूरी वीडियो हासिल करने के लिए हमने YouTube खंगालना आरंभ किया। पड़ताल के दौरान हमें 22 फरवरी, 2019 को ABP News द्वारा अपलोड की गई एक वीडियो मिली। 4 मिनट 33 सेकंड की इस वीडियो में छात्र द्वारा पूछे गए सवाल का उत्तर देते हुए सीएम योगी को भावुक होते हुए देखा जा सकता है। 

वहीं, ट्विटर पर न्यूज़ एजेंसी ANI UP ने सीएम योगी की भावुक होते हुए वीडियो ट्वीट की थी। इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा गया गया है कि “पुलवामा अटैक पर एक छात्र के सवाल का जवाब देते हुए भावुक हुए सीएम योगी आदित्यनाथ।”  

वीडियो के साथ एक और दावा किया जा रहा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ किसानों को एक हज़ार रूपए भी देंगे। कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमे दैनिक भास्कर और TV9 भारतवर्ष द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट मिली। लेख पढ़ने के बाद हमने जाना कि वैश्विक महामारी (COVID-19) के खिलाफ चल रही जंग के बीच सीएम योगी ने बड़ा ऐलान किया था। इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के चलते दिहाड़ी मजदूरों का रोजगार प्रभावित हो रहा है जिसके चलते सरकार उन्हें 1000 रूपये देने का फैसला किया है। योगी ने कहा कि राज्य में 15 लाख दिहाड़ी मजदूर पंजीकृत हैं, उन्हें 1000 रूपये की मदद देंगे।

व्हाट्सएप पर वायरल हो रही वीडियो का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि सीएम योगी आदित्यनाथ की 1 साल 3 महीने पुरानी वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। पड़ताल में हमने पाया कि पुलवामा हमले पर एक छात्र द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए सीएम योगी भावुक हो गए थे।  

Tools Used:

Google Keywords Search 

Media Reports

YouTube Search

Twitter Search  

Result: Misleading 

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular