मंगलवार, जुलाई 16, 2024
मंगलवार, जुलाई 16, 2024

होमFact CheckFact Check: गाज़ियाबाद के स्कूल का पुराना वीडियो दिल्ली का बताकर भ्रामक...

Fact Check: गाज़ियाबाद के स्कूल का पुराना वीडियो दिल्ली का बताकर भ्रामक दावे के साथ वायरल

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

Claim

दिल्ली के सरकारी स्कूलों को अरविंद केजरीवाल ने मदरसे में बदलना शुरू कर दिया है।

Courtesy:Twitter@Chitransh57

Fact

यह वीडियो इससे पहले नवंबर 2021 में एक अन्य दावे के साथ वायरल हुआ था। उस वक्त Newschecker ने इस वीडियो की पड़ताल की थी, जिसे यहां पढ़ा जा सकता है।

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने Invid टूल की मदद से मिले एक कीफ्रेम को गूगल रिवर्स सर्च किया। हमें बीते 22 नवंबर 2021 को Republic Hindustan News नामक यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया एक वीडियो मिला। इसमें वायरल वीडियो का अंश मौजूद है। वीडियो रिपोर्ट में इसे गाजियाबाद स्थित विजय नगर के एक स्कूल का बताया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘गाजियाबाद के विजयनगर के प्रताप बिहार क्षेत्र स्थित सरकारी प्राथमिक विद्यालय में बीते 19 नवंबर को गुरूनानक जयंती के अवसर पर अवकाश वाले दिन, कुछ मौलवी, बच्चों को कलमा पढ़ना बता रहे थे, जिससे देश में इस्लाम का प्रचार हो सके। जब कुछ हिंदू संगठन और क्षेत्रीय लोगों को इस बात की सूचना मिली तो उन्होंने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने विद्यालय पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। उस दौरान वहां मौजूद अध्यापिका और मौलवी को हिरासत में लेकर संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था।’ 

इसके अलावा, कीवर्ड सर्च करने पर हमें 20 नंवबर 2021 को Dr. Ashutosh Gupta BJP Ghaziabad के यूट्यूब चैनल पर वायरल दावे से संबंधित अपलोड किया गया एक वीडियो मिला। इसमें दी गई जानकारी के अनुसार, यह वीडियो गाजियाबाद के मिर्जापुर, भूडभारत नगर स्थित प्राइमरी विद्यालय का है।

मामले की अधिक जानकारी के लिए Newschecker ने गाजियाबाद के विजय नगर पुलिस स्टेशन इंचार्ज योगेंद्र मालिक से संपर्क किया था। उन्होंने इस बात कि पुष्टि की थी कि यह वीडियो विजय नगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत मिर्जापुर स्थित एक प्राथमिक विद्यालय है। उन्होंने बताया, “स्कूल प्रशासन की अनुमति से पिछले कुछ वर्षों से दियाजुद्दीन नाम का व्यक्ति अपने परिवार सहित विद्यालय परिसर में ही रहता है, तो अपनी इबादत इत्यादि भी वहीं करता है। उसके बच्चे बीते कई दिनों से बीमार चल रहे थे, जिसके कारण उसकी पत्नी ने बच्चों को रोगमुक्त करने के लिए मन्नत मांगी थी। बच्चे के ठीक होने पर कुरान ख्वानी का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम के दौरान कुछ स्थानीय लोगों की सूचना पर विजयनगर थाने की पुलिस वहां पहुंची, लेकिन उस वक्त स्कूल में नमाज पढ़ने जैसा कोई कार्य नहीं पाया गया था। कोई विवाद ना हो इसलिए आयोजन करा रहे लोगों को उनकी सहमति से थाने लाया गया था और बाद में पूछताछ के बाद उन्हें वापस भेज दिया गया। इस मामले में कोई भी प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है।”

इस तरह यह स्पष्ट है कि सोशल मीडिया पर दिल्ली के सरकारी स्कूलों को मदरसा बना दिया’ दावे के साथ वायरल हुआ वीडियो, दिल्ली के किसी सरकारी स्कूल का नहीं है। यह वीडियो गाजियाबाद के विजय नगर स्थित एक प्राथमिक विद्यालय का है।

Result: False

Our Sources
YouTube Video Uploaded by Republic Hindustan News on November 22, 2021
YouTube Video Uploaded by Dr. Ashutosh Gupta BJP Ghaziabad on November 20, 2021
Conversation with Vijay Nagar Police Station Incharge Yogendra Malik

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular