शुक्रवार, सितम्बर 30, 2022
शुक्रवार, सितम्बर 30, 2022

होमFact Checkकिसान आंदोलन की नहीं है हाथ में पत्थर लिए पुलिसकर्मी की वायरल...

किसान आंदोलन की नहीं है हाथ में पत्थर लिए पुलिसकर्मी की वायरल तस्वीर, सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ की जा रही है शेयर

26 जनवरी को किसान रैली में हुई हिंसा के बाद किसान आंदोलन को लेकर पुलिस पहले से ज्यादा सतर्क नजर आ रही है। इसी बीच सोशल मीडिया पर पुलिसकर्मियों की दो तस्वीरें वायरल हो रही हैं। पहली तस्वीर में पुलिसकर्मी के हाथ पर आरएसएस लिखा हुआ है। जबकि दूसरी तस्वीर में पुलिसकर्मी हाथ में पत्थर लिए नजर आ रहा है। दावा किया जा रहा है कि दोनों ही तस्वीरें मौजूदा किसान आंदोलन की हैं। 

पोस्ट से जुड़ा आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

Fact Checking/Verification

हमने वायरल तस्वीरों का सच जानने के लिए गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। सर्च के दौरान हमें हाथों में पत्थर लिए हुए पुलिसकर्मी की तस्वीर, केरल के कुथुपरम्बा जिले के एक कॉलेज Nirmalagiri College SFI के नाम से बनाए गए फेसबुक पेज पर मिली। जिसे 23 अगस्त 2013 को शेयर किया गया था। इस तस्वीर के साथ-साथ कई और तस्वीरों को भी शेयर किया गया है। 

https://www.facebook.com/175806025768915/photos/a.699410893408423/699411886741657/?type=3

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें पता चला की ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर कई आंदोलनों से जोड़कर वायरल होती आ रही हैं। 2020 में इस तस्वीर को सीएए आंदोलन से जोड़कर वायरल किया गया था। तो वहीं 2017 में इस तस्वीर को साउथ के जल्लीकट्टू आंदोलन से जोड़कर वायरल किया गया था। साल 2015 में भी यह तस्वीर काफी वायरल थी।

 

पहली तस्वीर का सच जानने के लिए हमने गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। सर्च के दौरान हमें वायरल तस्वीर कई सोशल मीडिया अकॉउंटस पर मिली। जिसे फरवरी 2020 में अपलोड किया गया था। इस तस्वीर को चेन्नई में हुए नागरिकता संशोधन कानून के विरोध से जोड़कर शेयर किया गया है।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक दोनों तस्वीरें साउथ की हैं और काफी सालों से इंटरनेट पर मौजूद हैं। इन तस्वीरों को अब तक कई आंदोलनों से जोड़कर वायरल किया गया है। स्वतंत्र रूप से हम इस बात की तस्दीक नहीं कर पाए कि वायरल तस्वीरें कहाँ की और कब की हैं। लेकिन इन तस्वीरों का मौजूदा किसान आंदोलन से कोई संबंध नहीं है।

Result: Misleading


Our Sources

Twitter- https://twitter.com/Senthil52046310/status/823799919798431745

Twitter – https://twitter.com/Senthil52046310/status/823799919798431745

Facebook – https://www.facebook.com/175806025768915/photos/a.699410893408423/699411886741657/?type=3

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular