सोमवार, जून 17, 2024
सोमवार, जून 17, 2024

होमहिंदीदिल्ली दंगे से प्रभावित लोगों की मदद करता वीडियो शाहीन बाग का...

दिल्ली दंगे से प्रभावित लोगों की मदद करता वीडियो शाहीन बाग का बताकर किया गया शेयर

Claim:

शाहीन बाग का नया वीडियो, जहां लोगों को 500 रुपये और बिरयानी दी जा रही है।

Verification:

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली के शाहीन बाग में विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है। पिछले साल दिसंबर से शुरु हुआ यह प्रदर्शन अभी तक थमने का नाम नही ले रहा है। यहां भारी संख्या में लोग मौजूद हैं जो हटने का नाम नहीं ले रहे हैं। इसी बीच एक वीडियो क्लिप तेजी से वायरल हो रही है। देखा जा सकता है कि एक लाइन में कुछ मुस्लिम महिलाएं और बच्चियां खड़ीं हैं। वहीं एक शख्स इन लोगों को पैसे बांटता हुआ नज़र आ रहा है। दावा किया जा रहा है कि शाहीन बाग का नया वीडियो, जहां लोगों को 500 रुपये और बिरयानी दी जा रही है।

देखा जा सकता है कि वायरल वीडियो को ट्विटर पर कई यूजर्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

 

सबसे पहले हमने वायरल वीडियो को ध्यान से सुना और आवाज़ सुनाई दी, अल्लाह इन्हें खूब देगा। ऐसे इंसानों को जो दूसरों की मदद कर रहा है। कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने व्हाट्सएप पर वायरल हो रही वीडियो को खंगाला। हमें एक अखबार की कटिंग मिली जिसमें वायरल वीडियो को उत्तरी पूर्वी दिल्ली के यमुना विहार का बताया जा रहा है।

वायरल दावे की सत्यता जानने के लिए हमने कुछ और कीवर्ड्स की मदद ली। पड़ताल के दौरान हमें Indian Express, The Star और msn का लेख मिला। लेख के मुताबिक़ यमुना विहार इलाके में कुछ लोगों ने मुस्लिम महिलाओं और बच्चियों को राशन और पैसे दिए हैं। आपको बता दें कि दिल्ली हिंसा में अब तक 40 से अधिक लोग मारे गए हैं। बहुत से लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने इस हिंसा में अपना घर खो दिया है और आज वो बेघर हो गए हैं। आपको बता दें कि वीडियो में पैसे बांट रहा शख्स स्वंयसेवक था जो कि राशन के लिए महिलाओं को पैसे दे रहा था। जबकि पूर्वोत्तर दिल्ली में दंगा प्रभावित क्षेत्रों में स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है।

वीडियो की सत्यता जानने के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद ली और बारीकी से खोजना आरम्भ किया। इस दौरान हमें BBC का लेख मिला जो कि वायरल वीडियो पर था। बीबीसी ने लिखा है कि वायरल वीडियो बाबू नगर में गली नंबर 4 का है जो कि मुस्तफाबाद इलाके में है। वहीं मौजूद पीड़ितों को राशन के लिए 50-100 रूपए दिए गए थे।  

हमारी पड़ताल में साफ़ हो गया की वायरल वीडियो का शाहीन बाग़ या CAA प्रोटेस्ट से कोई लेना देना नहीं है। यह वीडियो दिल्ली के न्यू मुस्तफाबाद इलाके का है जहां स्वयं सेवकों ने दंगा प्रभावित लोगों की आर्थिक सहायता की थी। 

Tools Used:

Google Keywords Search 

Media Reports 

Result: Misleading 

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular