सोमवार, अक्टूबर 3, 2022
सोमवार, अक्टूबर 3, 2022

होमCoronavirusझूठी है कोरोना वायरस से डॉक्टर के मौत को दर्शाती मार्मिक तस्वीर,...

झूठी है कोरोना वायरस से डॉक्टर के मौत को दर्शाती मार्मिक तस्वीर, सोशल मीडिया पर खूब हो रही शेयर

Claim:

कोरोना वायरस के चलते डॉक्टर की मौत हुई और मरने से पहले वो डॉक्टर अपने परिवार से आखिरी बार मिलने आया।

जानिए क्या है वायरल दावा:

शेयरचैट पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें एक शख्स मुंह पर मास्क लगाकर घर के दरवाज़े पर खड़े होकर अपने बच्चों को देख रहा है। इस तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि कोरोना की वजह से इस डॉक्टर की मौत हो गई है। मरने से पहले वो डॉक्टर अपने परिवार को देखना चाहता था। पोस्ट में यह भी दावा किया जा रहा है कि घर के दरवाजे पर ली गई यह तस्वीर उस डॉक्टर की आखिरी तस्वीर है।

  

Verification: 

घातक कोरोना वायरस का कहर देशभर में लगातार बढ़ता जा रहा है। देश में कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या 1000 के आंकड़े को पार कर गया तो वहीं पिछले 24 घंटे में कई नए मामले भी आ चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपात स्थिति से निपटने के लिए पीएम केयर फंड में कोरोना से लड़ने के लिए आर्थिक मदद की अपील की है।

प्रधानमंत्री द्वारा नागरिक सहायता व राहत कोष का गठन किया गया है। पीएम द्वारा कहा गया है कि इससे स्वस्थ भारत के निर्माण में मदद मिलेगी। पीएम की इस अपील के बाद बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने इसमें 25 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया है। 

देखा जा सकता है कि वायरल तस्वीर को फेसबुक और ट्विटर पर कई यूजर्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

कुछ टूल्स की मदद से हमने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही तस्वीर को खंगाला। पड़ताल के दौरान हमें Yandex की सहायता से एक फेसबुक पोस्ट मिली जो कि 21 मार्च, 2020 को अपडेट की गई थी। इस पोस्ट में तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा गया है कि

यह तस्वीर, वह मेरा चचेरा भाई है वह एक डॉक्टर है। उसके पास भी एक परिवार है। जो बच्चे उसे याद करते हैं। उसकी आवश्यकता है जब देश अभी भी Covid19 महामारी के राज्य में है। एक लंबी दूरी से इस तरह वह अपने बच्चों से मिलता है। मैं भी एक पिता हूं। मैं प्रभावित हूं जब मैं इस तस्वीर को देखता हूं। वह कैसा महसूस कर रहा है, अपने बच्चों की भावनाएं। बेशक वह भी बच्चों को गले लगाने से चूक जाता है। लेकिन क्या किया जा सकता है, बच्चों को दूर से देखना पड़ता है। फेसबुक दोस्तों कृपया के लिए मदद करें और जो आदेश जारी किए गए हैं उसका पालन करें। दूसरों की भावनाओं के बारे में सोचो। घर पर परिवार के साथ बैठने में सक्षम होने के लिए हम आभारी है। बच्चों के साथ खेल रहे हैं, लेकिन उन्हें बलिदान देना पड़ रहा है। जोखिम के लिए खुद को बेनकाब करें। इसके बारे में सोचो। अल्लाह उन सभी फ्रंट लाइनर की रक्षा करें जो ड्यूटी पर है।

वायरल दावे की खोज के दौरान हमें Kerjaya Baru और Cekfakta का लेख मिला। रिपोर्ट के अनुसार यह तस्वीर मलेशिया के एक डॉक्टर की है। जिस डॉक्टर की यह तस्वीर है, वह कोरोना से संक्रमित नहीं है बल्कि वह लोगों की सेवाओं में लगे हुए हैं। मलेशिया के डॉक्टर अपने बच्चों से मिलना चाहते थे। परिवार को कोरोना न हो जाए, इसलिए वे दरवाज़े पर खड़े होकर दूर से ही अपने परिवार से मिल रहे थे।  

“Takut Bawa Balik COVID-19,” Doktor Berdiri Depan Rumah Lambai Anak2 Dari Jauh

https://cekfakta.tempo.co/fakta/696/fakta-atau-hoaks-benarkah-ini-foto-momen-terakhir-dokter-hadio-yang-meninggal-karena-corona?fbclid=IwAR3Ffih_9XuMwjiIHOUAKy9XVlgPS_wtum-QhuaotSKYnYY1V8x5PpLFAnE


वायरल तथ्यों का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि वायरल तस्वीर में नज़र आ रहे डॉक्टर की मौत नहीं हुई है। दरअसल तस्वीर में नज़र आ रहे डॉक्टर मलेशिया के हैं और वो कोरोना संक्रमितों का इलाज कर रहे थे, जिसके डर से वो अपने बच्चों से दूर से मिल रहे थे। लोगों को भ्रमित करने के लिए भ्रामक दावा किया जा रहा है। 

Tools Used:

Facebook Search

Twitter Search

Google Keywords Search

Result: False

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular