शुक्रवार, जून 21, 2024
शुक्रवार, जून 21, 2024

होमCoronavirusक्या मांसाहारी लोगों को ही होता है कोरोना संक्रमण? WHO के हवाले...

क्या मांसाहारी लोगों को ही होता है कोरोना संक्रमण? WHO के हवाले से वायरल हुआ फेक दावा

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर देश में फैली कोरोना वायरस महामारी को लेकर एक दावा किया जा रहा है। कोरोना वायरस महामारी के संबंध में सोशल मीडिया पर कई दावे वायरल हो रहे हैं। ऐसे में इन दिनों दावा किया जा रहा है कि World Health Organization के प्रतिनिधि Dr. Gauden Galea ने कहा कि जब तक लोग मांस खाते रहेंगे, तब तक संक्रमण होने का खतरा बना रहेगा”। वहीं दूसरा दावा यह है कि WHO की रिपोर्ट के अनुसार विश्व का एक भी शाकाहारी व्यक्ति कोरोना से ग्रस्त नहीं पाया है। 

 

Fact Checking/Verification

कथित रूप से चीन के वुहान स्थित जानवरों के मार्केट से फैला कोरोना वायरस आज पूरी दुनिया में अपने पैर पसार चुका है। पूरी दुनिया इस महामारी से लड़ने के युद्ध स्तर पर कोशिश कर रही है। हालांकि चीन में अब कोरोना वायरस के मामले नियंत्रित होते दिख रहे हैं। सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस से संबंधित कई दावे किए जा रहे हैं। ऐसे में इन दिनों WHO के हवाले से वायरल हो रहे दावे को हमने खंगालना शुरू किया।  

देखा जा सकता है कि वायरल दावे को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

https://www.facebook.com/SupportArnab/photos/a.1196074313810536/2902812289803388/?type=3&theater

हमारे आधिकारिक व्हाट्सएप नंबर पर भी एक यूज़र द्वारा वायरल दावे की सत्यता जानने की अपील की गई थी।


कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे को खोजना आरंभ किया। सबसे पहले यह खोजना शुरू किया कि Dr. Gauden Galea कौन हैं? पड़ताल में हमने पाया कि डॉ गौडेन गालिया (Dr. Gauden Galea) चीन में विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के प्रतिनिधि हैं। डॉ गालिया एक सार्वजनिक स्वास्थ्य चिकित्सक हैं और वह 1998 से WHO के लिए काम कर रहे हैं।  


वायरल दावे की पुष्टि के लिए हमने Dr. Gauden Galea के ट्विटर हैंडल को खोजा। पड़ताल के दौरान हमने पाया कि इन्होंने मीट और कोरोना वायरस से संबंधित कोई बयान नहीं दिया है। 

अब हमने कुछ अलग-अलग कीवर्ड्स की मदद से YouTube खोजना आरंभ किया। पड़ताल के दौरान हमें अमेरिकी न्यूज़ चैनल CNN द्वारा अपलोड की गई एक वीडियो मिली। CNN के आधिकारिक चैनल पर यह वीडियो 21 जनवरी, 2020 को अपलोड की गई थी। यह पूरी वीडियो 7 मिनट 30 सेकेंड की है। वीडियो में 3 मिनट 40 सेकेंड पर Dr. Gauden Galea को यह कहते सुना जा सकता जा सकता है “जब तक लोग मांस खाते रहेंगे, संक्रमण का खतरा बढ़ता रहेगा”। इस वीडियो को पूरा देखने पर हमने जाना कि वीडियो के ज़रिए बताया गया है कि कैसे चीन में कोरोना वायरस फैला।

लेकिन यह बयान हाल फिलहाल का नहीं है, यह उस दौरान का बयान है जब कोरोना वायरस की चीन में शुरूआत हुई थी। उस समय जितने लोग संक्रमित पाए गए थे, उनमें अधिक संख्या उन लोगों की थी जो मीट बाज़ार से जुड़े हुए थे। लेकिन अभी कोई रिसर्च सामने नहीं आई है जिससे यह साबित होता हो कि COVID-19 पूरी दुनिया में मीट के ज़रिए फैला है। इसपर अभी भी रिसर्च चल रही है। 

वायरल दावे से संबंधित अधिक जानकारी खोजने के लिए हमने WHO की आधिकारिक वेबसाइट को खोजा। WHO द्वारा जारी दिशा निर्देश में कहीं भी मीट से मनुष्य में वायरस फैलने की बात नहीं कही गयी है। हालांकि कच्चे और आधे पके हुए मांस और दूध दोनों चीज़ों से बचने का निर्देश दिया गया है। अगर आप बाहर से कच्चा मीट ला रहे हैं तो उसे अच्छे से धोएं और फिर पूरी तरह पकाकर खाएं। 

अब बात करते हैं दूसरे दावे की जिसमें कहा जा रहा है कि विश्व का एक भी शाकाहारी व्यक्ति कोरोना से ग्रस्त नहीं पाया गया है। इस दावे को खोजने के लिए हम विश्व स्वास्थ्य संगठन की आधिकारिक वेबसाइट पर गए। पड़ताल के दौरान हमें ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली जिसमें WHO ने ऐसा कहा हो कि यह वायरस केवल मांसाहारी लोगों को ही हुआ है। इस तरह की कोई भी जानकारी WHO द्वारा नहीं दी गई है।

कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने वायरल दावे से संबंधित कुछ मीडिया रिपोर्ट को भी खोजा। पड़ताल के दौरान हमें जनसत्ता और The Economic Times की मीडिया रिपोर्ट्स मिली। दोनों लेख पढ़ने के बाद हमने जाना कि AIIMS के प्रोफेसर आनंद कृष्णन ने कहा- इस पर कोई सबूत नहीं मिला है कि शाकाहारी अपनाने से वायरस के खतरे से बचा जा सकता है।

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल दावों का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि Dr. Gauden Galea की 3 महीने पुरानी वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। Galea ने मांसाहार से कोरोना वायरस होने की बात नहीं कही थी। वहीं पड़ताल में हमने पाया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ऐसी कोई रिपोर्ट जारी नहीं की है जिसमें शाकाहारी मनुष्यों को कोरोना न होने की बात कही गई हो।  


Our Sources

Google Keywords Search 

Twitter Search 

YouTube Search 

Facebook Search 

Result: False 


(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: check this @newschecker.in

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular