रविवार, जून 23, 2024
रविवार, जून 23, 2024

होमCoronavirusस्वास्थ्य मंत्रालय के नाम पर वायरल हुई फ़ेक एडवाइज़री, WhatsApp पर की...

स्वास्थ्य मंत्रालय के नाम पर वायरल हुई फ़ेक एडवाइज़री, WhatsApp पर की जा रही है शेयर

Authors

Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 10 years.

Claim

स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों के एक जगह एकत्रित होने (Mass Gathering) पर नई एडवाइज़री जारी की है। जिसके मुताबिक मंत्रालय द्वारा 14 से 21 मार्च तक अवकाश घोषित किया गया है। यह अवकाश सभी स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक संस्थानों और 10 से ज्यादा कर्मचारियों वाले दफ्तरों के लिए अनिवार्य है। आदेश का पालन करने वाले को 5000 रुपयों का जुर्माना देना होगा।

Verification

कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच WhatsApp पर स्वास्थ्य मंत्रालय के नाम पर एक एडवाइज़री शेयर की जा रही है। जिसके मुताबिक मंत्रालय द्वारा 14 से 21 मार्च तक अवकाश घोषित किया गया है। यह अवकाश सभी स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक संस्थानों और 10 से ज्यादा कर्मचारियों वाले दफ्तरों के लिए अनिवार्य है। आदेश का पालन करने वाले को 5000 रुपयों का जुर्माना देना होगा।

वायरल हो रही इस एडवाइज़री को जब हमने ध्यान से पढ़ा तो हमें कई गलतियां नज़र आईं जिसने इसकी सत्यता पर सवाल खड़े किए:

पहली गलती

इस एडवाइज़री में Delhi और Gujarat की स्पेलिंग गलत लिखी गई हैं

दूसरी गलती

कई जगह पर व्याकरण की भी गलतियां हैं जिन्हें हमने नीचे चिन्हहित किया है

तीसरी गलती

इस स्क्रीनशॉट का Address Bar भी कुछ अलग है जबकि अगर हम कोई PDF file मोबाइल पर खोलते हैं तो वह कुछ ऐसा दिखता है

स्वास्थ्य मंत्रालय

यह सभी गलतियां एक सरकारी नोटिफिकेशन में होना शक पैदा करता है। शक दूर करने के लिए हमनें जब स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट खंगाली तो हमें ऐसी कोई एडवाइजरी नहीं दिखी। हालांकि Mass Gatherings को लेकर एक एडवाइज़री 5 मार्च को जरूर जारी की गई थी। इस एडवाइजरी और वायरल हो रही एडवाइजरी में भी हमें कई समानताएं दिखीं जिन्हें देख कर यह लगता है कि इस एडवाइज़री को कॉपी करके यह फेक एडवाइजरी बनाई गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय

वहीं ट्विटर पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस एडवाइज़री को फ़ेक बताया है

इन सभी बातों से यह साबित होता है कि यह स्क्रीनशॉट लोगों को भ्रमित करने के लिए फैलाया जा रहा है।

Tools Used

  • Google

Result: False

(किसी भी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या मेल करें: checkthis@newschecker.in)

Authors

Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 10 years.

Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 10 years.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular