शुक्रवार, अगस्त 6, 2021
शुक्रवार, अगस्त 6, 2021
होमFact Checkक्या हिमालय कंपनी के संस्थापक ने लोगों से की रिलायंस और पतंजलि...

क्या हिमालय कंपनी के संस्थापक ने लोगों से की रिलायंस और पतंजलि का बहिष्कार करने की अपील?

हिमालय और रिलायंस ऐसी कंपनियां जिसका नाम हर किसी ने सुना है। द हिमालय ड्रग कंपनी 1930 से पर्सनल केयर, बेबीकेयर, हर्बल कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स बनाती है। रिलायंस भारत के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी की कंपनी है। ऐसे में सोशल मीडिया पर 2 मिनट 2 सेकेंड की एक वीडियो वायरल हो रही है। इस वीडियो में एक व्यक्ति को रिलायंस (Reliance) का बहिष्कार (Boycott) करने के लिए कहते हुए सुना जा सकता है। वीडियो में नज़र आ रहा व्यक्ति लोगों से कह रहा है कि, “हमारे पास जितने भी रिलायंस के जियो के मोबाइल फोन है, उसे सब चेन्ज करो। किसी और के खरीदो चाहे आइडिया (Idea), एयरटेल (Airtel), या फिर वोडाफोन (Vodafone) के लो, लेकिन रिलायंस के इस्तेमाल मत करो।

वीडियो में नज़र आ रहा शख्स लोगों से एक और अपील करते हुए कहता है, “आप सभी लोग बाबा रामदेव की कंपनी ‘पतंजलि’ का सामान लेना बंद करो, क्योंकि रामदेव का अधिकतर पैसा आरएसएस (RSS) के लिए हथियार खरीदने का काम करता है।”

इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि ‘हिमालय कंपनी का मालिक मुस्लिम है। हिमालय कंपनी के संस्थापक के पूरे भाषण को सुनिए और सतर्क हो जाइए। आप सभी लोग हिमालय कंपनी का सामान खरीदना बंद कर दीजिए।”

आर्टिकल लिखने तक इस वीडियो को 3600 से ज्यादा लोग देख चुके हैं और 250 यूज़र्स इस वीडियो को शेयर कर चुके हैं।   

इस वीडियो को फेसबुक और ट्विटर पर कई अन्य यूज़र्स द्वारा भी शेयर किया जा रहा है।  

हमारे आधिकारिक WhatsApp नंबर (9999499044) पर भी वायरल दावे की सत्यता जानने की अपील की गई थी।

Crowd Tangle टूल पर किए गए विश्लेषण से पता चलता है कि वायरल दावे को सोशल मीडिया पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

इस वीडियो के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

क्या हिमालय कंपनी के संस्थापक ने रिलायंस और पतंजलि के सामानों का बहिष्कार करने की अपील की है? इस दावे का सच जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कोई रिपोर्ट नहीं मिली।

पड़ताल जारी रखते हए हमने वायरल वीडियो को ध्यान से देखा। वीडियो में दाईं ओर ऊपर की तरफ Times Express Voice of Democracy लिखा हुआ नज़र आया।

हिमालय कंपनी के संस्थापक

कुछ कीवर्ड्स की मदद से YouTube खंगालने पर हमें Times Express के आधिकारिक चैनल पर 25 जनवरी 2020 को अपलोड की गई वीडियो मिली। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो और यह वीडियो दिखने में एक जैसी हैं। YouTube वीडियो के डिस्क्रिप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, वीडियो में भाषण दे रहे व्यक्ति, देश के मशहूर वकील भानू प्रताप सिंह (Advocate Supreme Court of India, Bhanu Pratap Singh) हैं। दरअसल सीएए पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होने के बाद दिल्ली के मुस्तफाबाद में धरने पर बैठी जनता को भानू प्रताप सिंह संबोधित करने के लिए पहुंचे थे। यह वीडियो उसी दौरान की है। इससे साफ होता है कि सुप्रीम कोर्ट के वकील भानू प्रताप सिंह की पुरानी वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

हिमालय कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट खंगालने पर मिली जानकारी के मुताबिक, हिमालय के संस्थापक मोहम्मद मिनाल (Mohammad Minal) का निधन साल 1986 में ही हो गया था।  

हिमालय कंपनी के संस्थापक

नीचे मोहम्मद मिनाल और वकील भानू प्रताप सिंह की तस्वीर में अंतर देखा जा सकता है।

हिमालय कंपनी के संस्थापक

हिमालय की वेबसाइट पर मिली जानकारी के मुताबिक, इस कंपनी के चेयरमैन मेराज मिनाल (Meraj Manal) हैं। जबकि ग्लोबल सीइओ शेलेंद्र मलहोत्रा (Shailendra Malhotra) हैं और सीएफओ जतिन ब्रहामेचा (Jatin Brahmecha) हैं।

हमारी टीम पहले भी हिमालय ड्रग कंपनी से जुड़े दावे का फैक्ट चेक कर चुकी है। हमारी फैक्ट चेक रिपोर्ट को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Read More: क्या कैबिनेट में जगह नहीं मिलने पर कांग्रेस में शामिल हुए मेनका और वरूण गांधी?

Conclusion

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि वीडियो में नजर आ रहे व्यक्ति हिमालय कंपनी के संस्थापक नहीं है। वीडियो के माध्यम से भ्रामक दावा वायरल हो रहा है।


Result: False


Our Sources

Times Express

हिमालय कंपनी

Photos Comparison

Twitter


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular