शनिवार, नवम्बर 26, 2022
शनिवार, नवम्बर 26, 2022

होमFact CheckWeekly Wrap: इस हफ़्ते वायरल हुए टॉप 5 फेक दावों की पड़ताल,...

Weekly Wrap: इस हफ़्ते वायरल हुए टॉप 5 फेक दावों की पड़ताल, पढ़ें हमारी यह रिपोर्ट

इस सप्ताह कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर सोशल मीडिया पर फर्जी दावे शेयर किए गए। एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि कांग्रेस की यात्रा में लोगों ने पाकिस्तानी झंडा उठाया। नामीबिया से भारत आए चीतों को लेकर भी फर्जी दावे शेयर होते देखे गए। एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि तेलंगाना में बीजेपी नेताओं ने लोगों को शराब और चिकन बांटा। कुछ शरारती लोगों के कान में पुलिस द्वारा भोंपू/पुंगी बजाए जाने का एक वीडियो भी तेजी से वायरल हुआ। इसी तरह कई अन्य खबरों पर भी सोशल मीडिया यूजर्स ने फर्जी दावे शेयर किये, जिनका फैक्ट चेक हमारी इस रिपोर्ट में पढ़ा जा सकता है।

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में नजर आए पाकिस्तानी झंडे?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में पाकिस्तानी झंडे नजर आए। हमारी पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

चीन के एक पार्क में मेमने का शिकार करते बाघों का वीडियो कूनो पार्क का बताया गया

सोशल मीडिया पर एक मेमने का शिकार करते बाघों के वीडियो को नामीबिया से भारत आए चीतों का बताया जाने लगा। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

क्या बीजेपी नेता ने तेलंगाना में लोगों को बांटा शराब और चिकन?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया जाने लगा कि तेलंगाना में बीजेपी नेता ने लोगों को चिकन और शराब बांटा। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

उपद्रवियों के कानों में भोंपू बजवा रहे पुलिसकर्मियों का वीडियो यूपी या गोपालगंज का नहीं है

सोशल मीडिया पर पुलिसकर्मियों द्वारा दो लोगों के कानों में पुंगी बजवाने का एक वीडियो वायरल हो गया। दावा किया जाने लगा कि यह वीडियो गोपालगंज और उत्तर प्रदेश का है। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

क्या केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय को खत्म करने जा रही है सरकार?

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए दावा किया जाने लगा कि सरकार केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय को खत्म करने वाली है। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular