गुरूवार, अक्टूबर 6, 2022
गुरूवार, अक्टूबर 6, 2022

होमFact CheckWeekly Wrap: इस हफ़्ते वायरल हुए टॉप 5 फर्जी दावों का फैक्ट...

Weekly Wrap: इस हफ़्ते वायरल हुए टॉप 5 फर्जी दावों का फैक्ट चेक

सोशल मीडिया पर इस हफ़्ते कई ख़बरों पर फर्जी दावे शेयर होते देखे गए। कॉमनवेल्थ खेल 2022 को लेकर एक पोस्ट तेजी से वायरल हुआ, जिसमें दावा किया गया कि हिमा दास ने स्वर्ण पदक जीत लिया है। कांवड़ यात्रा को लेकर भी कई दावे वायरल होते देखे गए। गायिका फरमानी नाज के बारे में दावा किया गया कि वे जल्द ही हिन्दू धर्म में शामिल हो जाएंगी। इसी तरह 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के बारे में भी सोशल मीडिया यूजर्स ने फेक दावे शेयर किए। इस लेख में इस हफ़्ते वायरल हुए टॉप 5 फेक दावों का फैक्ट चेक पढ़ा जा सकता है।

क्या राष्ट्रमंडल खेल 2022 में हिमा दास ने जीता स्वर्ण पदक?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि हिमा दास ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में गोल्ड मेडल जीत लिया है। हमारी पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ। फैक्ट चेक रिपोर्ट को यहां पढ़ा जा सकता है।

मेरठ में कांवड़ियों के बीच हुए विवाद के वीडियो को रुड़की का बताया गया

सोशल मीडिया पर कांवड़ियों की आपसी मारपीट के एक वीडियो को शेयर कर इसे उत्तराखंड के रुड़की का बताकर दावा किया जाने लगा कि कांवड़ियों द्वारा की गई इस मारपीट में भारतीय सेना के एक जवान की जान चली गई। हमारी पड़ताल दावा भ्रामक साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

‘हर हर शंभू’ भजन गाकर सुर्खियों में आईं गायिका फरमानी नाज़ ने नहीं की धर्म परिवर्तन की बात

‘हर हर शंभू’ भजन गाकर सुर्खियों में आईं गायिका फरमानी नाज़ के एक कथित ट्विटर हैंडल से दावा किया गया कि वे जल्द ही हिन्दू धर्म में शामिल हो जाएंगी। हमारी पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

रिपोर्टर द्वारा शिक्षकों को धमकाए जाने के नाम पर वायरल हुए स्क्रिप्टेड वीडियो को सच मान बैठे लोग

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया जाने लगा कि एक रिपोर्टर ने अध्यापकों की जगह छात्रों को पढ़ा रहे दूसरे लोगों को पकड़ लिया और उनके साथ बदसलूकी की। हमारी पड़ताल में पता चला कि यह वीडियो स्क्रिप्टेड था. फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

 

क्या 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में सरकार को हुआ अरबों रुपये का नुकसान?

सोशल मीडिया पर एक अखबार की कटिंग शेयर कर दावा किया गया है कि 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में भारत सरकार को 2.8 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। हमारी पड़ताल में पता चला कि अखबार की कटिंग के साथ छेड़छाड़ कर गलत दावा शेयर किया किया गया था। फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular