रविवार, मई 26, 2024
रविवार, मई 26, 2024

होमFact CheckFact Check: क्या पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत मोदी सरकार सभी नागरिकों...

Fact Check: क्या पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत मोदी सरकार सभी नागरिकों को प्रतिदिन दे रही 500 रूपए? यहां जानें वायरल दावे का सच

Claim
मोदी सरकार सभी नागरिकों को 500 रूपए रोज़ाना दे रही है।
Fact
यह दावा भ्रामक है। पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत जो पारंपरिक शिल्पकार और कारीगर प्रशिक्षण (ट्रेनिंग) लेते हैं, उन्हें प्रशिक्षण के दौरान प्रतिदिन 500 रुपये देने का प्रावधान है।

सोशल मीडिया पर पीएम विश्वकर्मा योजना के संबंध में यह दावा किया जा रहा है कि मोदी सरकार सभी लोगों को रोज़ाना 500 रूपए दे रही है। हालाँकि, अपनी जांच में हमने पाया कि पीएम विश्वकर्मा योजना पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों के लिए है और पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों को इसके तहत प्रशिक्षण लेने के दौरान प्रतिदिन 500 रुपये दिए जाते हैं।

1 मार्च 2024 को शेयर किये गए 16 सेकंड के यूट्यूब शार्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक वीडियो क्लिप लगाया गया है। जिसमें वे कह रहे हैं ”आपको हर रोज़ 500 रूपए भत्ता सरकार की ओर से दिया जायेगा।’ जिसके आगे वीडियो में एंकर द्वारा कहा जाता है कि ”जी हाँ, अब मोदी जी आपको दे रहे हैं 500 रूपए हर दिन.. अप्लाई करने के लिए फॉलो और कमेंट करें..।”

29 फ़रवरी 2024 को शेयर किये गए एक इंस्टाग्राम रील में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यही वीडियो क्लिप लगाया गया है। जिसमें वे कह रहे हैं ”आपको हर रोज़ 500 रूपए भत्ता सरकार की ओर से दिया जायेगा।’ वीडियो में आगे वॉइस ओवर जोड़ा गया है कि ”अब सरकार आपको देने जा रही है, 500 रूपए रोज़ाना..।” साथ ही वीडियो में आगे पीएम विश्वकर्मा योजना का ज़िक्र किया गया है।

Courtesy: Instagram/@govt_guru98

Fact Check/Verification

दावे की पड़ताल के लिए सबसे पहले हमने वीडियो के कीफ्रेम को गूगल सर्च किया। परिणाम में हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आधिकारिक चैनल पर 17 सितंबर 2023 को शेयर किया गया पूरा वीडियो मिला। यहाँ हम देखते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी विश्वकर्मा योजना की घोषणा कर रहे हैं।

Youtube: Narendra Modi

पड़ताल में आगे हमने की-वर्ड सर्च द्वारा पीएम विश्वकर्मा योजना से जुड़ी हुई जानकारी खोजी। 17 सितंबर 2023 को ABP न्यूज़ द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 73वां जन्मदिन और विश्वकर्मा जयंती के दिन 17 सितंबर 2023 को विश्वकर्मा योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों को लोन और कौशल प्रशिक्षण से अपना कारोबार बनाने और चलाने में मदद मिलती है। पीएम विश्वकर्मा योजना में लोहार, सुनार, कुम्हार, कारपेंटर और चर्मकार जैसे पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों को फायदा मिलता है। जिससे इतना स्पष्ट हो जाता है कि यह योजना सिर्फ शिल्पकारों और कारीगरों के लिए है।

जांच में आगे हम इस योजना के तहत मिलने वाले लाभों की जानकारी खोजते हैं। विभिन्न रिपोर्ट्स में बताया गया है कि योजना से जुड़ने के बाद लाभार्थियों को टूलकिट खरीदने के लिए 15 हजार रुपये दिए जाते हैं। साथ ही बिना गारंटी और सस्ती ब्याज दर पर पहले एक लाख रुपये का लोन दिया जाता है और इस लोन को चुकाने के बाद अतिरिक्त 2 लाख रुपये का लोन लिया जा सकता है। जांच में आगे हमने पाया कि पीएम विश्वकर्मा योजना के लाभार्थियों को मिलने वाले लाभ में जो ट्रेनिंग दी जाती है, उसके बदले रोजाना 500 रुपये का भत्ता दिया जाता है। यहाँ गौर करने वाली बात यह है कि सिर्फ प्रशिक्षण (ट्रेनिंग) के दौरान ही 500 रूपए का भत्ता दिया जाता है।

Courtesy: Times of India
Courtesy: Jagran

Conclusion

अपनी जांच से हम इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के तहत पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों को प्रशिक्षण (ट्रेनिंग) के दौरान 500 रूपए प्रतिदिन का भत्ता दिया जाता है।

Result: Missing Context

Sources
Official Youtube channel of Narendra Modi.
Report published by ABP News on 17th September 2023.
Report published by Jagran on 21st February 2024.
Report published by Times of India on 17th September 2024.

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular