मंगलवार, अप्रैल 23, 2024
मंगलवार, अप्रैल 23, 2024

होमFact CheckFact Check: मध्य प्रदेश के दमोह में पानी की टंकी दूषित करने...

Fact Check: मध्य प्रदेश के दमोह में पानी की टंकी दूषित करने का पुराना वीडियो सांप्रदायिक दावे के साथ वायरल

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
मध्य प्रदेश के दमोह में मुस्लिम युवक और बच्चे पानी की टंकी का जल दूषित कर रहे हैं.

Fact
वायरल वीडियो क़रीब चार वर्ष पुराना है.

बीते शनिवार की रात को करीब 9:30 बजे 4 असामाजिक तत्वों ने दमोह स्थित मस्जिद मार्केट के टेलर अंसार खान के साथ मारपीट की थी. इस दौरान बीच बचाव करने पहुंचे मस्जिद के पेश इमाम हाफिज के साथ भी मारपीट की गई. जैसे ही यह जानकारी लोगों को मिली तो लोगों ने कोतवाली का घेराव कर दिया. प्रदर्शनकारी, आरोपियों की तुरंत गिरफ़्तारी की मांग पर अड़े थे और इस दौरान आपत्तिजनक नारे भी लगाए. जिसके बाद पुलिस ने शांति व्यवस्था भंग करने को लेकर क़रीब 40 से ज़्यादा लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया है. वहीं पुलिस ने मारपीट के मामले में चार लोगों के खिलाफ 294, 323, 506 और 427 धारा के तहत मामला दर्ज किया है और तीन आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है.

इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ युवक और बच्चे एक पानी की टंकी पर चढ़े हुए दिखाई दे रहे हैं. वीडियो को इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि मध्य प्रदेश के दमोह में मुस्लिम युवक और बच्चे पेयजल टंकी में नहा और थूक रहे हैं, जिससे पानी दूषित हो रहा है.

हालांकि, हमने अपनी जांच में पाया कि वायरल वीडियो क़रीब चार वर्ष पुराना है. दमोह पुलिस ने 2 युवक और करीब 5 अज्ञात के खिलाफ़ मामला भी दर्ज किया था.

वायरल वीडियो करीब 2 मिनट 20 सेकेंड का है. इस वीडियो में करीब 5 से 7 युवक एक पानी की टंकी से उतरते दिखाई दे रहे हैं. इस दौरान वहां मौजूद कुछ लोग उन युवकों से टंकी पर चढ़ने और उसमें नहाने का कारण पूछते नज़र आ रहे हैं. उन लोगों के पूछने एवं डांटने की वजह से उन युवकों को वहां से भागते हुए भी देखा जा सकता है.

इस वीडियो को सोशल मीडिया प्लेटफार्म खासकर X पर वायरल दावे वाले कैप्शन के साथ शेयर किया गया है, जिसमें लिखा हुआ है “MP के दमोह में कट्टरपंथी पेयजल टंकी में ‘नहा’ रहे हैं, और उसमें ‘थूक’ रहे हैं, जिससे पानी दूषित हो रहा है. टोपी, कुर्ता, पाजामे, से ‘पहचान’ सकते हैं?”

   Courtesy: X/sudhir_mish

Fact Check/Verification

Newschecker ने वायरल वीडियो की पड़ताल के लिए सबसे पहले वीडियो को ध्यानपूर्वक देखा। हमें वीडियो में मीडिया आउटलेट सुदर्शन न्यूज़ का वाटरमार्क दिखाई दिया. इसलिए हमने सुदर्शन न्यूज़ के X अकाउंट पर उक्त वीडियो को खंगाला.

 Courtesy: X/SudarshanNewsTV

हमें यह वीडियो 9 मई 2020 को सुदर्शन न्यूज़ के आधिकारिक अकाउंट से शेयर किया हुआ मिला. सुदर्शन न्यूज़ ने वायरल वीडियो को शेयर करते हुए लिखा था, “थूकना पीछे छूटा. अब पूरे शहर के पीने वाले पानी में नहाना शुरू. म0प्र0 जिला दामोह गजानन टेकरी सँतोषी माता पहाड़ी पर शहर में पानी पीने की सप्लाई टँकी में नहाते मिले ये सब.”

ऊपर मिली जानकारी के आधार पर कीवर्ड सर्च किया तो हमें पब्लिक न्यूज़ पर भी 9 मई 2020 को भी अपलोड किया हुआ यह वीडियो मिला. वीडियो के साथ मौजूद कैप्शन में इसे दमोह के जटाशंकर पहाड़ी का बताया गया था. साथ ही कैप्शन में यह भी बताया गया था कि पुलिस ने इस मामले में 4 लोगों को हिरासत में भी लिया था.

 Courtesy: Public News

जांच में हमें इससे जुड़ी रिपोर्ट पत्रिका की वेबसाइट पर 9 मई 2020 को प्रकाशित मिली. रिपोर्ट में दी गई जानकारी के अनुसार, कोतवाली थाना अंतर्गत आने वाले नौगजा पहाड़ी या जटाशंकर पहाड़ी पर मौजूद पेयजल सप्लाई टंकी में कूदकर नहाने वाले युवकों का वीडियो प्रशासन की नज़र में आया था. जिसके बाद नगरपालिका ने इसकी रिपोर्ट कोतवाली थाना में दर्ज कराई थी. पुलिस ने इस मामले में धारा 269ए, 270, 277 सहित कई अन्य धाराओं में शिकायत दर्ज की थी. जिसके बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को हिरासत में लिया था.

Courtesy: Patrika

हमने अपनी जांच में इस मामले में जुड़ी एफ़आईआर रिपोर्ट भी खंगाली. एफआईआर में दी गई जानकारी के अनुसार, दमोह नगरपालिका के कर्मी शम्भू ने यह शिकायत दर्ज कराई थी.

 

दरअसल 8 मई 2020 की शाम को शम्भू को यह सूचना मिली थी कि नौगजा पानी टंकी पर कुछ लड़के चढ़े हुए हैं. हालांकि, शम्भू के वहां पहुचने पर कोई नहीं मिला लेकिन बाद में टंकी का वीडियो वायरल होने लगा. जिसके बाद शम्भू ने वीडियो में दिख रहे लड़को की पहचान कराई तो दो लड़कों की पहचान दानिस और अंसार के रूप में हुई. जिसके बाद कोरोना महामारी के दौरान पीने का पानी दूषित करने को लेकर वीडियो में दिख रहे लड़कों के खिलाफ़ मामला दर्ज करने की अपील की गई. जिसके बाद पुलिस ने कई धाराओं में दो ज्ञात और 5 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

Conclusion

हमारी जांच में मिले साक्ष्यों से यह साफ़ है कि वायरल वीडियो क़रीब चार वर्ष पुराना है. दमोह पुलिस ने इस मामले में 2 युवक और करीब 5 अज्ञात के खिलाफ़ मामला भी दर्ज किया था.

Result: Missing Context

Our Sources
Video Shared by Sudarshan News X account on 9th May 2020
Video Uploaded by Public News Platform on 9th May 2020
Article Published by Patrika on 9th May 2020
FIR filed on 8th May 2020

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular