शुक्रवार, जुलाई 19, 2024
शुक्रवार, जुलाई 19, 2024

होमFact Checkमेरठ में कांवड़ियों के बीच हुए विवाद के वीडियो को रुड़की का...

मेरठ में कांवड़ियों के बीच हुए विवाद के वीडियो को रुड़की का बताकर फैलाया जा रहा है भ्रम

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

सोशल मीडिया पर कांवड़ियों की आपसी मारपीट का एक वीडियो शेयर कर इसे उत्तराखंड के रुड़की का बताया जा रहा है। कहा ये भी जा रहा है कि कांवड़ियों द्वारा की गई इस मारपीट में भारतीय सेना के एक जवान की जान चली गई। 

फेसबुक पर कई यूजर्स ने वीडियो को शेयर कर इसे उत्तराखंड के रुड़की का बताया है।

कांवड़ियों की मारपीट का ये वीडियो उत्तराखंड के रुड़की का है
Courtesy: Facebook/mukeshyadav.mukeshyadav.35513

इसके अलावा, ट्विटर पर भी कई यूजर्स ने इस वीडियो को उत्तराखंड के रुड़की का बताया है।

Courtesy: Twitter@prataprathore_

दरअसल, उत्तराखंड के रुड़की में बीते 26 जुलाई को कावड़ियों के दो समूहों के बीच झड़प हो गई। इस झड़प के बीच कांवड़ यात्रा में हिस्सा ले रहे भारतीय सेना के एक जवान कार्तिक बलयान की भी मौत हो गई। इस मामले में यूपी पुलिस ने छह कावड़ियों को गिरफ्तार किया है। 

इसी बीच सोशल मीडिया पर इस घटना से जोड़कर एक वीडियो शेयर कर इसे उत्तराखंड के रुड़की का बताया जा रहा है। 

Fact Check/Verification

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने वीडियो को Invid टूल की मदद से कुछ कीफ्रेम में बदला। इसके बाद एक कीफ्रेम को गूगल रिवर्स सर्च की मदद से खोजना शुरू किया। हमें दैनिक भास्कर के पत्रकार अवधेश अकोडिया का एक ट्वीट मिला, जिसमें वायरल वीडियो को पोस्ट किया गया है। ट्वीट के अनुसार, मेरठ के खरखौदा इलाके में कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे कॉम्पीटिशन में विवाद हो गया, जिसमें एक युवक को बुरी तरह पीटा गया। गौरतलब है कि यह वही वीडियो है जिसे रुड़की का बताकर शेयर किया जा रहा है।

इसके बाद हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें लाइव हिंदुस्तान द्वारा 26 जुलाई 2022 को प्रकाशित एक रिपोर्ट प्राप्त हुई। रिपोर्ट के अनुसार, मेरठ के खरखौदा में मौजूद लोहिया फार्म हाउस के पास एक शिविर लगा हुआ था, जहां पर शिविर संचालक और कावंडियों में डीजे बजाने को लेकर कहासुनी हो गई। इसके बाद बात हाथापाई और मारपीट तक पहुंच गई। बतौर रिपोर्ट, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामला शांत कराया। 

इस मामले पर ज्यादा जानकारी के लिए हमने खरखौदा के स्थानीय निवासी अर्जेश त्यागी से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया, “ये घटना मेरठ के लोहिया फॉर्म हाउस की ही है। वहां बुलंदशहर के एक व्यक्ति द्वारा भंडारे का आयोजन किया गया था। उसी में कावंडियों और आयोजकोंं के बीच कहासुनी हो गई थी। पुलिस ने वहां पहुंचकर मामला शांत करा दिया था।”

Newschecker ने इस घटना की अधिक जानकारी के लिए मेरठ के खरखौदा थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार दुबे से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया, “जो वीडियो वायरल हो रहा वो मेरठ का है। उत्तराखंड के रुड़की का मामला अलग है। उससे इसका कोई संबंध नहीं है। यह घटना मेरठ के खरखोदा में मौजूद लोहिया फार्म हाउस के पास की है। बुलंदशहर के एक व्यक्ति द्वारा भंडारे का आयोजन किया गया था। उनकी कुछ कावंडियों से बहस हो गई थी जिसके बाद बात मरपीट तक पहुंच गई। हमने वहां पहुंचकर दोनों पक्षों को समझाया। किसी ने पुलिस थाने में मामला दर्ज नहीं कराया।”

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साबित हो जाता है कि मेरठ के खरखौदा में हुई घटना के वीडियो को उत्तराखंड के रुड़की का बताकर भ्रामक दावे के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है।

Result: Partly False

Our Sources

Tweet by Dainik Journalist Avadhesh Avkodia on July 27, 2022

Report on Live Hindustan on July 26th, 2022

Telephonic Conversation with Local Resident of Kharkhoda Arjesh Tyagi

Telephonic Conversation with Kharkhoda Police Station head Jitendra Nath Dubey

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular