गुरूवार, मई 30, 2024
गुरूवार, मई 30, 2024

होमFact CheckFact Check: क्या भाजपा प्रत्याशी अरुण गोविल ने नहीं खाया दलित के...

Fact Check: क्या भाजपा प्रत्याशी अरुण गोविल ने नहीं खाया दलित के हाथ का बना खाना? जानें सच

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
मेरठ से भाजपा प्रत्याशी अरुण गोविल ने दलित के हाथ का बना खाना नहीं खाया।
Fact
वायरल वीडियो एडिटेड है। चुनाव प्रचार के दौरान बूथ अध्यक्ष नीतू जाटव के घर पर अरुण गोविल ने खाना खाया था।

भाजपा ने मेरठ लोकसभा क्षेत्र से अरुण गोविल को प्रत्याशी बनाया है। ये वही अरुण गोविल हैं जो रामायण में राम का किरदार निभाकर चर्चित हुए थे। 13 अप्रैल को चुनाव प्रचार के दौरान वे भाजपा कार्यकर्ता अरुण मचल वाल्मीकि और नीतू जाटव के घर खाना खाने गए थे। जिसके बाद से सोशल मीडिया पर उनका एक वीडियो इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि अरुण गोविल ने दलित के हाथ का बना खाना नहीं खाया। हालाँकि, अपनी जांच में हमने पाया कि वायरल दावा सच नहीं है।

13 अप्रैल 2024 को यूपी कांग्रेस ने अपने आधिकारिक एक्स अकाउंट से अरुण गोविल का एक 55 सेकंड लंबा वीडियो शेयर किया है। वीडियो में अरुण गोविल अन्य लोगों के साथ जमीन पर बैठे हैं और उनके सामने भोजन की थाली रखी हुई दिखती है। उनके साथ में बैठे लोग अपनी-अपनी थाली से खाना खाते नज़र आते हैं।

वीडियो के बीच में अरुण गोविल सामने रखी थाली को हाथ जोड़ते हैं और आस-पास बैठे लोगों से बात करते नज़र आते हैं। पोस्ट के साथ कैप्शन में लिखा है कि ”मेरठ जनपद से BJ Party के लोकसभा प्रत्याशी अरुण गोविल जी वाल्मीकि कार्यकर्ता के घर ‘भोजन दर्शन’ करने पहुंचे। भगवान श्री राम ने त्रेता युग में शबरी के झूठे बेर खाए थे और यह 2024 में दलित के घर का भोजन नहीं खा पा रहे।” वायरल पोस्ट्स का आर्काइव यहाँ और यहाँ देखें।

भाजपा प्रत्याशी अरुण गोविल
Courtesy: X/@INCUttarPradesh
Courtesy: X/@LaljiVermaSP

Fact Check/Verification

जांच की शुरुआत में हमने कीवर्ड सच के द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा प्रत्याशी अरुण गोविल के दलित भाजपा कार्यकर्ता अरुण मचल वाल्मीकि और नीतू जाटव के घर खाना खाने जाने से जुड़ी जानकारी खोजी। परिणाम में हमें अमर उजाला, जी न्यूज़ और ईटीवी भारत द्वारा 13 अप्रैल 2024 को प्रकाशित रिपोर्ट्स मिलीं। रिपोर्ट्स में दी गयी जानकारी के अनुसार, अरुण गोविल ने उनके घर खाना खाया था।

अमर उजाला की रिपोर्ट में बताया गया है कि मेरठ में अरुण गोविल एक दलित के घर पहुंचे। इस दौरान महिलाओं ने अरुण गोविल की आरती उतारकर स्वागत किया। इसके बाद घर में बैठकर उन्होंने खाना खाया।

Courtesy: Amar Ujala

जी न्यूज़ द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि अरुण गोविल मेरठ के भगवतपुरा इलाके की तंग गलियों के बीच बेहद छोटे से घर में रह रही नीतू जाटव के घर पहुंचे, जहाँ नीतू जाटव ने उन्हें ताज़ी रोटियां सेंककर खिलाई।

Courtesy: Zee News

ईटीवी भारत द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में लिखा गया है कि जब मेरठ-हापुड़ लोकसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी अरुण गोविल भगवतपुरा इलाके में अपने लिए मतदान की अपील करने पहुंचे, तब उन्होंने एक घर में पहुंचकर भोजन भी ग्रहण किया। रिपोर्ट में मौजूद तस्वीर में वे चाय पीते हुए भी दिखाई दे रहे हैं।

Courtesy: ETV Bharat

जांच में आगे हमने अरुण गोविल के आधिकारिक एक्स अकाउंट पर वायरल दावे से जुड़ी जानकारी खंगाली। 13 अप्रैल 2024 को अरुण गोविल ने वायरल वीडियो में दिख रहे स्थान का वीडियो शेयर किया है। वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है कि ”मेरठ के भगवतपुरा में स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ बूथ अध्यक्ष श्रीमती नीतू जाटव जी के आवास पर भोजन तथा पार्षद श्री अरुण मचल वाल्मीकि जी के आवास पर चाय पर चर्चा कार्यक्रम हुआ।”

1 मिनट 5 सेकंड के इस वीडियो में अरुण गोविल स्पष्ट रूप से खाना खाते हुए नज़र आ रहे हैं। वीडियो में वे खाना खाने के बाद थाली के सामने हाथ जोड़ते दिखते हैं, जबकि वायरल वीडियो में काटकर सिर्फ हाथ जोड़ने वाला हिस्सा दिखाया गया है।

इसे भी पढ़ें- क्या पीएम मोदी ने कहा कि पुराने संविधान को बदलकर देश में मनुस्मृति लागू किया जायेगा? जानें सच

Courtesy: X/@arungovil12

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह बात स्पष्ट हो गई कि वायरल वीडियो एडिटेड है। जांच में हमने पाया कि चुनाव प्रचार के दौरान बूथ अध्यक्ष नीतू जाटव के घर गए अरुण गोविल ने खाना खाया था।

Result: Missing Context

Sources
Report published by Amar Ujala on 13th April, 2024.
Report published by Zee News on 13th April, 2024.
Report published by ETV Bharat on 13th April, 2024.
X post by Arun Govil on 13th March, 2024.

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular