गुरूवार, मई 19, 2022
गुरूवार, मई 19, 2022

होमFact Checkप्रियंका गांधी की फोटोशॉप्ड तस्वीरें भ्रामक दावे के साथ हुईं वायरल

प्रियंका गांधी की फोटोशॉप्ड तस्वीरें भ्रामक दावे के साथ हुईं वायरल


सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी की दो अलग-अलग तस्वीरें वायरल हो रही हैं। पहली तस्वीर में प्रियंका गांधी ने लाल साड़ी पहना हुआ है और उनके हाथ में तलवार भी है, उनके माथे पर बड़ा सा टीका लगा हुआ है। सोशल मीडिया पर लोग कटाक्ष करते हुए कह रहे हैं, ‘जिस तेजी से पिंकी जी मंदिर-मंदिर घूम रही हैं। चुनाव आते-आते कहीं राधे माॅं ना बन जाएं।’ वहीं, दूसरी वायरल तस्वीर में प्रियंका गांधी झाड़ू लगाती नजर आ रही हैं और एक फोटोग्राफर जमीन पर लेटकर उनकी तस्वीर खींचता हुआ दिख रहा है।

वायरल ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

(वायरल ट्वीट)

ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, ऐसे में जनता के दिलों में जगह बनाने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियां अपने-अपने पैंतरे आजमा रही हैं। इसी बीच बीते 8 अक्टूबर को प्रियंका गांधी वाड्रा, लखनऊ स्थित इंदिरा गांधी नगर की दलित बस्ती लवकुश नगर पहुंचीं। प्रियंका ने लवकुश नगर स्थित बाल्मीकि मंदिर में झाड़ू भी लगाया। बीते 8 अक्टूबर को आज तक द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, प्रियंका गांधी ने झाड़ू लगाने के दौरान कहा कि झाड़ू लगाना स्वाभिमान और सादगी का प्रतीक है। देश में करोड़ों महिलाएं, भाई-बहन झाड़ू लगाने का काम करते हैं। इस दौरान उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा। इसके आलावा कई मौकों पर प्रियंका गांधी द्वारा मंदिरों का दौरा किए जाने पर भी कई सोशल मीडिया यूजर्स इसे राजनीति से जोड़कर कई दावे करते हैं। इसी क्रम में दोनों तस्वीरें वायरल हैं।

गौरतलब है, कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के तिकोनिया इलाके में बीते 3 अक्टूबर को प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में किसान प्रदर्शनकारियों सहित कुल 8 लोगों की मौत हुई थी। जिसके बाद 4 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी जा रही प्रियंका गांधी को सीतापुर में ही पुलिस ने हिरासत में ले लिया था और वहां उन्हें, PAC गेस्ट हाउस में रखा गया, जहां पर झाड़ू लगाते हुए उनकी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। उसी पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने उन पर तंज कसा था। हिंसा से जुड़ी पूरी खबर को यहां पढ़ा जा सकता है। इससे पहले प्रियंका गांधी की झाड़ू लगाती एक एडिटेड क्लिप वायरल हुई थी, जिसका हमारी टीम द्वारा फैक्ट चेक किया गया है। जिसका लिंक आप यहां देख सकते हैं।

उपरोक्त दोनों वायरल तस्वीरों को कई अन्य ट्विटर यूजर्स द्वारा भी शेयर किया गया है।

वायरल ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

वायरल ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहां और यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

क्या सच में प्रियंका गांधी चुनाव जीतने के लिए, मंदिर-मंदिर माथा टेक रही हैं या फिर प्रिंयका ने दलितों के यहां झाड़ू लगाते हुए यह फोटोशूट कराया? वायरल हो रही पहली तस्वीर का सच जानने के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स की सहायता से गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें 19 मार्च 2019 को आजतक द्वारा प्रकाशित एक लेख प्राप्त हुआ। लेख के मुताबिक, प्रियंका गांधी उस वक्त उत्तर प्रदेश में 3 दिवसीय दौरे पर थीं। इस बीच उन्होंने मिर्जापुर स्थित विंध्याचल मंदिर में दर्शन किया और मंदिर के विजिटर बुक में जय माता दी भी लिखा। दर्शन के दौरान प्रियंका ने लाल साड़ी पहनी हुई थी। जिसकी फोटो हाल-फिलहाल वायरल हो रही है। आजतक में प्रकाशित पूरी खबर को यहां पढ़ा जा सकता है।

(19 मार्च 2019 को आजतक में प्रकाशित लेख का स्क्रीनशॉट)

पड़ताल के दौरान ही हमें 19 मई 2019 को Deccanherald में प्रकाशित एक लेख मिला। लेख के साथ प्रियंका गांधी की विंध्याचल मंदिर में दर्शन के दौरान की एक फोटो भी प्रकाशित है, जिसे एडिट कर उपरोक्त दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

पड़ताल में प्राप्त मीडिया रिपोर्ट से साफ होता है कि त्रिशूल और टीके के साथ वायरल की जा रही प्रियंका की तस्वीर फोटोशॉप्ड है।

वहीं, दूसरी वायरल तस्वीर की पड़ताल के लिए हमने ट्विटर एडवांस सर्च की सहायता ली। इस दौरान हमें एक ट्वीट प्राप्त हुआ। प्राप्त ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर को शेयर किया गया है। पोस्ट में जमीन पर लेटकर एक फोटोग्राफर पीएम मोदी की तस्वीर खींचता दिख रहा है।

गौरतलब है कि बीते 26 सितबंर को अमेरिका से भारत लौटे पीएम मोदी, (PM Modi) अचानक ही नए संसद भवन के निर्माण स्थल का दौरा करने पहुंच गए। उन्होंने वहां चल रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया। उस दौरान की तस्वीर सोशल मीडिया पर कुछ इस तरह वायरल होने लगी थी। पीएम मोदी की वायरल तस्वीर फोटोशॉप्ड थी, जिसका फैक्ट चेक न्यूजचेकर द्वारा किया जा चुका है, जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं। अब एक बार फिर से इसी फोटोग्राफर के साथ प्रियंका गांधी की तस्वीर वायरल हो रही है, जो कि एडिटेड है।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक, प्रियंका गांधी की तस्वीरों को लेकर किया जा रहा दावा गलत है। वायरल तस्वीरों को एडिटिंग सॉफ्टवेयर के जरिए एडिट कर बनाया गया है।

Result: Manipulated Media

Media Reports

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular