मंगलवार, जुलाई 23, 2024
मंगलवार, जुलाई 23, 2024

होमFact CheckFact Check: दुकान में आग लगा रहे आदमी का ये वीडियो केरल...

Fact Check: दुकान में आग लगा रहे आदमी का ये वीडियो केरल का है, तमिलनाडु का नहीं

Authors

An Electronics & Communication engineer by training, Arjun switched to journalism to follow his passion. After completing a diploma in Broadcast Journalism at the India Today Media Institute, he has been debunking mis/disinformation for over three years. His areas of interest are politics and social media. Before joining Newschecker, he was working with the India Today Fact Check team.

Claim
तमिलनाडु में पेट्रोल डालकर एक बिहारी प्रवासी की दुकान में आग लगा दी गई. 

Fact
ये 3 मार्च का केरल के त्रिप्पुनितुरा का वीडियो है. आग एक लॉटरी की दुकान में लगाई गई थी. इसका प्रवासी बिहारियों वाले मामले से कोई संबंध नहीं है. 

तमिलनाडु में बिहारियों के साथ कथित भेदभाव का बताकर सोशल मीडिया पर कई फर्जी पोस्ट वायरल हो रहे हैं. इसी कड़ी में एक वीडियो के जरिए दावा किया जा रहा है कि तमिलनाडु में पेट्रोल डालकर एक बिहारी की दुकान जला दी गई.

वीडियो में देखा जा सकता है कि एक व्यक्ति, एक दुकान के बाहर खड़े होकर अंदर रखे काउंटर पर कोई ज्वलनशील पदार्थ छिड़कता है और फिर आग लगा देता है. फेसबुक पर यह पोस्ट काफी वायरल हो रहा है. पोस्ट को शेयर करते हुए लोग इस कथित घटना पर अफसोस जता रहे हैं.

तमिलनाडु
Courtesy: Facebook/Bp Vlog

Fact Check/Verification

वायरल वीडियो को कुछ कीवर्ड्स की मदद से सर्च करने पर इसकी सच्चाई सामने आ गई. यह वीडियो तमिलनाडु का नहीं, बल्कि केरल के कोच्चि में आने वाले त्रिप्पुनितुरा नाम के इलाके का है.

पिछले कुछ दिनों से यह वीडियो काफी वायरल हो रहा है. वीडियो को लेकर मीडिया संस्था Mathrubhumi ने बताया है कि यह घटना 3 मार्च 2023 की शाम को हुई थी, जब राजेश टीएस नाम के एक व्यक्ति ने एक लॉटरी की दुकान में आग लगा दी थी.

घटना को अंजाम देने से पहले राजेश ने एक फेसबुक लाइव भी किया था जिसमें उसने लॉटरी एजेंसी में आग लगाने की धमकी भी दी थी. खबरों में लॉटरी एजेंसी का नाम ‘Meenakshi Lotteries’ बताया गया है. दुकान के काउंटर पर भी मलयालम में मीनाक्षी लॉटरी लिखा देखा जा सकता है. यह केरल की एक प्रचलित लॉटरी एजेंसी है.

Asianet News की एक खबर के अनुसार, आरोपी बाहर बेचने के लिए एजेंसी से लॉटरी खरीदता था. राजेश द्वारा बेची गई लॉटरियों को इनाम नहीं मिल पा रहा था. इस वजह से वो परेशान था. इसको लेकर उसकी दुकान के मालिक से भी बहस हो चुकी थी. इसी के चलते उसने गुस्से में दुकान में आग लगा दी.

यह भी पढ़ें… एमके स्टालिन और योगी आदित्यनाथ ने हिंदी भाषी लोगों को लेकर नहीं दिए ये बयान, फर्जी है ये पोस्ट

The New Indian Express की खबर में स्थानीय लोगों के हवाले से बताया गया है कि राजेश का मनोवैज्ञानिक बीमारी का इलाज भी चल रहा है. घटना से पहले फेसबुक लाइव में उसने लॉटरी एजेंसी पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि हम लोगों को असली साम्यवाद (communism) की जरूरत है, न कि पूंजीवाद की.

इस बारे में हमने स्थानीय पुलिस से भी बात की. इलाके के SHO प्रवीण एसबी ने हमें बताया यह हमला किसी प्रवासी मजदूर के खिलाफ नहीं हुआ है. पुलिस की जांच में ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है. पुलिस का भी यही कहना है कि यह घटना व्यक्तिगत दुश्मनी का नतीजा है.

Conclusion

हमारी पड़ताल से यह स्पष्ट हो जाता है कि वीडियो तमिलनाडु का नहीं, बल्कि केरल का है. इस घटना ‌का प्रवासी बिहारियों वाले मामले से कोई संबंध नहीं है. वीडियो को झूठे दावे के साथ वायरल किया जा रहा है.

Result: False

Our Sources

Report of Mathrubhumi, published on March 4, 2023
Video of Asianet News, uploaded on March 4, 2023
Telephonic conversation with SHO PRAVEEN.S.B, Hill Palace PS, Tripunithura

केरल से सबलू थॉमस के इनपुट्स के साथ

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Authors

An Electronics & Communication engineer by training, Arjun switched to journalism to follow his passion. After completing a diploma in Broadcast Journalism at the India Today Media Institute, he has been debunking mis/disinformation for over three years. His areas of interest are politics and social media. Before joining Newschecker, he was working with the India Today Fact Check team.

Arjun Deodia
Arjun Deodia
An Electronics & Communication engineer by training, Arjun switched to journalism to follow his passion. After completing a diploma in Broadcast Journalism at the India Today Media Institute, he has been debunking mis/disinformation for over three years. His areas of interest are politics and social media. Before joining Newschecker, he was working with the India Today Fact Check team.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular