गुरूवार, मई 30, 2024
गुरूवार, मई 30, 2024

होमFact CheckFact Check: तमिलनाडु में मंदिर तोड़े जाने के पुराने और अलग-अलग वीडियो...

Fact Check: तमिलनाडु में मंदिर तोड़े जाने के पुराने और अलग-अलग वीडियो भ्रामक दावे के साथ वायरल

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
तमिलनाडु में तोड़ा गया सालों पुराना मंदिर.
Fact
वायरल वीडियो के दोनों दृश्य पिछले वर्ष तमिलनाडु के अलग-अलग जिलों में अतिक्रमण हटाने के दौरान के हैं.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें ऊपर और नीचे वाले हिस्से में अलग-अलग दृश्य मौजूद हैं. ऊपर वाले हिस्से में एक मंदिर को जेसीबी के सहारे तोड़ते हुए और नीचे वाले हिस्से में महिलाओं को ‘ॐ नमः शिवाय’ जपते हुए देखा सकता है. वीडियो को इस दावे से शेयर किया जा रहा है कि यह दृश्य तमिलनाडु का है, जहां राज्य सरकार ने भारी विरोध के बाद 200 साल पुराने शिव मंदिर को तोड़ना बंद कर दिया.

वायरल वीडियो के ऊपर वाले हिस्से में जेसीबी की सहायता से एक ऊंचे मंदिर को तोड़ा जा रहा है. इस दौरान वहां कुछ पुलिसकर्मी भी मौजूद हैं. वहीं, नीचे वाले वीडियो में भी जेसीबी मौजूद है, जिसके आस-पास कुछ महिलाएं भी मौजूद हैं, जो ॐ नमः शिवाय का जाप कर रही हैं. वीडियो में हिंदी और अंग्रेज़ी में लिखा टेक्स्ट भी मौजूद है, जिसके अनुसार यह वीडियो तमिलनाडु का है.   

Courtesy: FB/ Aditya Kashyap 

Fact Check/Verification  

Newschecker ने वायरल वीडियो का सच जानने के लिए सबसे पहले ऊपर वाले दृश्य की पड़ताल की. एक कीफ्रेम को रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें इंडिया टुडे की वेबसाइट पर 11 जनवरी 2022 को प्रकाशित रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट में मौजूद फ़ीचर इमेज में उसी मंदिर की तस्वीर मौजूद है, जो वायरल वीडियो के ऊपर वाले हिस्से में दिख रही है. 

Courtesy: India Today

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, तमिलनाडु में चेन्नई के नजदीक ताम्बरम में एक मंदिर को ढहाए जाने के बाद सोशल मीडिया पर विवाद शुरू हो गया था. जिस पर ताम्बरम के आयुक्त ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा था कि मद्रास हाईकोर्ट के 2015 के एक आदेश के बाद मंदिर सहित कुछ अन्य निर्माण को ढहाया गया है.

रिपोर्ट में ताम्बरम के पुलिस आयुक्त एम रवि का बयान भी मौजूद है. एम रवि के अनुसार, एक जलाशय पर अतिक्रमण करने की वजह से मंदिर और उसके साथ एक चर्च की दीवार को भी ढहाया गया था. इस मामले में तहसीलदार की शिकायत पर केस भी दर्ज किया गया. 

इसके बाद, हमने ऊपर मिली जानकारी के आधार पर यूट्यूब सर्च किया तो हमें 11 जनवरी 2022 को पोलिमर न्यूज़ के यूट्यूब अकाउंट से अपलोड एक वीडियो रिपोर्ट भी मिली. इस रिपोर्ट में वायरल वीडियो वाले दृश्य मौजूद हैं.

Courtesy: Polimer News

वीडियो रिपोर्ट में दी गई जानकारी के अनुसार, एक जलाशय पर अतिक्रमण करने की वजह से ताम्बरम में अंजनेयर मंदिर को ढहाया गया था और इसके साथ ही वहां मौजूद एक चर्च की दीवार को भी गिरा दिया गया था.

जांच में हमें चेन्नई डेली अपडेट्स नाम के एक फ़ेसबुक अकाउंट से 11 जनवरी 2022 को अपलोड किया गया वीडियो भी मिला. इस वीडियो में भी वही मंदिर मौजूद है, जो वायरल वीडियो के ऊपर वाले हिस्से में है. वीडियो के साथ कैप्शन में दी गई जानकारी के अनुसार, चेन्नई के ताम्बरम में अतिक्रमण के बाद मंदिर को ढहाया गया था.

Courtesy: FB/ Chennai Daily Updates

हमारी अभी तक की जांच में यह साफ़ हो गया था कि वायरल वीडियो में ऊपर वाला दृश्य जनवरी 2022 में ताम्बरम में अतिक्रमण की वजह से मंदिर ढहाए जाने के दौरान का है.

इसलिए हमने अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए वायरल वीडियो में मौजूद नीचे वाले दृश्यों की पड़ताल की. इसके लिए हमने वीडियो में मौजूद टेक्स्ट से जुड़े कीवर्ड की मदद से X पर सर्च किया. हमें Oxomiya Jiyor नाम के अकाउंट से 4 अगस्त 2022 को शेयर किया गया क़रीब 2 मिनट 20 सेकेंड का एक वीडियो मिला. इस वीडियो में वायरल वीडियो के दृश्य मौजूद हैं.

Courtesy: X/SouleFacts

वीडियो के साथ मौजूद कैप्शन में इसे तमिलनाडु के कोयंबटूर के शिव मंदिर का बताया गया है. हमने संबंधित कीवर्ड की मदद से न्यूज़ रिपोर्ट खंगाली, तो हमें बीबीसी तमिल के यूट्यूब अकाउंट पर 8 अगस्त 2022 को अपलोड की गई रिपोर्ट मिली.

Courtesy: BBC Tamil

बीबीसी तमिल रिपोर्ट में दी गई जानकारी के अनुसार, 4 अगस्त 2022 को कोयंबटूर के शिवन मंदिर कंपाउंड की दीवार को जेसीबी की मदद तोड़ा गया था. अतिक्रमण के एक मामले को लेकर मद्रास हाईकोर्ट के आदेश के बाद मंदिर परिसर का बाहरी ढ़ांचा तोड़ दिया गया था.

Conclusion   

हमारी जांच में मिले साक्ष्यों से साफ़ है कि वायरल वीडियो में दिख रहे दोनों दृश्य तमिलनाडु की अलग-अलग घटनाओं के हैं. ऊपर वाला वीडियो ताम्बरम में अतिक्रमण की वजह से मंदिर को ढहाए जाने का है, जबकि नीचे वाला वीडियो कोयंबटूर में अतिक्रमण के कारण शिव मंदिर की दीवार को तोड़े जाने का है.

Result- Missing Context

Our Sources
Article published by India today on 11th January 20222
Video Report of 11th January 2022 by Polimer News
Video shared by Chennai daily Updates FB account on 11th January 2022
Tweet by Oxomiya Jiyor on 4th August 2022
Video Report of 8th August 2022 by BBC Tamil

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular