शनिवार, जून 22, 2024
शनिवार, जून 22, 2024

होमFact Checkतीस हजारी कोर्ट में हुए झगड़े का वीडियो स्वाति मालीवाल के साथ...

तीस हजारी कोर्ट में हुए झगड़े का वीडियो स्वाति मालीवाल के साथ हुई अभद्रता का बताकर वायरल

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
यह वीडियो स्वाति मालीवाल के साथ हुई अभद्रता का है.

Fact
नहीं, यह वीडियो तीस हजारी कोर्ट में हुए झगड़े का है.

सोशल मीडिया पर एक झगड़े का वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो को आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ बीते दिनों हुई अभद्रता से जोड़कर शेयर किया जा रहा है.

हालांकि, हमने अपनी जांच में पाया कि वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. यह वीडियो दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट के मीडिएशन सेंटर में हुए एक झगड़े का है.

गौरतलब है कि बीते सोमवार 13 मई को उत्तरी दिल्ली के डीसीपी ने यह बताया था कि “हमें एक पीसीआर कॉल मिली, जिसमें कॉलर ने यह दावा किया कि उसके साथ सीएम आवास के अंदर मारपीट की गई है. इसके कुछ देर बाद सांसद स्वाति मालीवाल सिविल लाइंस स्थित पुलिस स्टेशन आईं. लेकिन उन्होंने कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई”. इसी दौरान भाजपा नेताओं ने यह दावा किया की स्वाति मालीवाल के साथ सीएम आवास में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सचिव विभव कुमार ने मारपीट की.

हालांकि, इस घटना के करीब एक दिन बाद आप सांसद संजय सिंह ने यह कबूल किया कि मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री के पीए विभव कुमार ने स्वाति मालीवाल के साथ अभद्रता और बदतमीजी की. साथ ही संजय सिंह ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस पूरी घटना का संज्ञान लिया है और इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी.

वायरल वीडियो करीब 48 सेकेंड का है, जिसमें कुछ महिलाएं झगड़ती हुई दिखाई दे रही हैं. इस दौरान कुछ लोग बीच बचाव करते हुए भी देखे जा सकते हैं.

वीडियो को वायरल दावे वाले लंबे कैप्शन के साथ साझा किया गया, जिसमें लिखा हुआ है “ये तो होना ही था…स्वाति मालीवाल की पिटाई हुई है! पिटाई केजरीवाल के PA ने की है, खबर आ रही है की CMO में जमकर लात घुसे चल रहे हैं, कारण बताया जा रहा है कि, “स्वाति, मारलोना, संजय, सबको CM बनना है। और केजरी बवाल अपनी राबड़ी को ही मुख्यमंत्री बनाना चाह रहे हैं“.

Courtesy: X/sarikatyagi97

Fact Check/Verification

Newschecker ने वायरल वीडियो के कीफ्रेम की मदद से रिवर्स इमेज सर्च किया, तो यह वीडियो कुछ यूट्यूब और इंस्टाग्राम अकाउंट से 13 मई 2024 को अपलोड किया हुआ मिला. इस वीडियो के साथ मौजूद कैप्शन और डिस्क्रिप्शन में इसे दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट का बताया गया था. इसके अलावा वीडियो के बारे में कोई ख़ास जानकारी नहीं दी गई थी.

हालांकि, इसी दौरान हमें शाहिद अहमद नाम के एक वकील के फ़ेसबुक अकाउंट से 12 मई 2024 को अपलोड किया गया यह वीडियो मिला, जिसमें उन्होंने भी इस वीडियो को तीस हजारी कोर्ट का ही बताया था.

Courtesy: FB/shahid.ahmad.395454

हमारी जांच में अभी तक मिले साक्ष्यों से यह तो साफ़ हो गया कि वायरल वीडियो 13 मई 2024 को दिल्ली के सीएम हाउस में राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ हुई अभद्रता से पहले इंटरनेट पर मौजूद है.

इसके बाद हमने दिल्ली बार एसोसिएशन के सचिव अतुल कुमार शर्मा से भी संपर्क किया. उन्होंने हमें बताया कि “वायरल वीडियो का राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल से कोई संबंध नहीं है और यह पुराना मामला है”.

अब हमने तीस हजारी कोर्ट, जो सब्जी मंडी पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आता है, वहां के एसएचओ से भी संपर्क किया. उन्होंने भी स्वाति मालीवाल वाले वायरल दावे का खंडन करते हुए कहा कि “यह पश्चिमी दिल्ली के एक पति-पत्नी के बीच का मामला था, जो 9 मई 2024 को तीस हजारी कोर्ट के मीडिएशन सेंटर में आए थे. इसी दौरान दोनों पक्षों में लड़ाई हो गई थी”.

Conclusion

हमारी जांच में मिले साक्ष्यों से यह साफ़ है कि वायरल वीडियो का आप की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल से कोई लेना देना नहीं है.

Result: False

Our Sources
Video uploaded by several social media accounts on 12th and 13th May 2024
Telephonic conversation with Delhi Bar Association Secretary Atul Kumar Sharma
Telephonic conversation with Sabzi Mandi SHO

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular