गुरूवार, जून 20, 2024
गुरूवार, जून 20, 2024

होमFact CheckFact Check: यूपी बीजेपी नेताओं के बीच हुई मारपीट का पुराना वीडियो...

Fact Check: यूपी बीजेपी नेताओं के बीच हुई मारपीट का पुराना वीडियो मध्य प्रदेश कांग्रेस कार्यकर्ताओं का बताकर हुआ वायरल

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
मध्य प्रदेश में कांग्रेस प्रत्याशियों की पहली सूची ज़ारी होने के बाद आपस में भिड़े कांग्रेसी नेता.

Fact
नहीं, वायरल वीडियो मार्च 2019 में यूपी के संतकबीर नगर में भाजपा नेताओं के बीच मारपीट का है.

सोशल मीडिया पर एक बैठक में दो नेताओं के बीच मारपीट और जूते चलने का वीडियो आने वाले मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव से जोड़कर शेयर किया जा रहा है. वायरल दावे में कहा जा रहा है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस प्रत्याशियों की पहली सूची ज़ारी होने के बाद कांग्रेसी नेता आपस में ही भिड़ गए.

Courtesy: X/Sudhir_mish

Fact Check/Verification

Newschecker पहले भी वायरल वीडियो की पड़ताल कर चुका है. साल 2021 में इस वीडियो को आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह से जोड़कर शेयर किया गया था. 

हमें उस दौरान जांच में मार्च 2019 में आजतक और जनसत्ता की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट मिली थी. इन रिपोर्टों के अनुसार, यह पूरा मामला उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर जिले का था. जहां विकास कार्यों को लेकर अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की बैठक चल रही थी. इसमें तत्कालीन भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी और स्थानीय भाजपा विधायक राकेश सिंह बघेल भी मौजूद थे.

Courtesy: Jansatta

बैठक के दौरान ही एक सड़क की शिलापट्ट में शरद त्रिपाठी का नाम नहीं होने को लेकर पहले दोनों नेताओं शरद त्रिपाठी और राकेश सिंह बघेल के बीच तीखी बहस हुई. इसके बाद तत्कालीन सांसद ने भाजपा विधायक राकेश सिंह बघेल पर जूते चला दिए. इस घटना के बाद दोनों ही नेताओं के ख़िलाफ़ मामला भी दर्ज किया गया था, लेकिन पुलिस रिपोर्ट के बाद कोर्ट ने मुकदमा ख़त्म कर दिया.   

जांच में हमें शरद त्रिपाठी द्वारा मार्च 2019 में दिया गया एक इंटरव्यू भी मिला था, जिसमें उन्होंने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए खेद जताया था.

साल 2021 के जुलाई महीने में शरद त्रिपाठी का निधन गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में हो गया था, उन्हें लिवर संबंधी समस्याओं के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

Courtesy: AAJTAK

Conclusion

हमारी जांच के अनुसार, वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा ग़लत है. यह वीडियो साल 2019 में उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर में भाजपा नेताओं के बीच हुई मारपीट का है.

Result- False 

Our Sources
AAJ Tak Report: Published on 6th March 2019
Jansatt Report: Published on 6th March 2019
AAJ Tak Report: Published on 6th March 2019

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular