शनिवार, जुलाई 20, 2024
शनिवार, जुलाई 20, 2024

होमFact CheckFact Check: पश्चिम बंगाल की अवैध पटाखा फैक्ट्री में हुए हालिया विस्फोट...

Fact Check: पश्चिम बंगाल की अवैध पटाखा फैक्ट्री में हुए हालिया विस्फोट का नहीं है यह वायरल वीडियो

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

Claim:
यह पश्चिम बंगाल के मिदनापुर स्थित एक अवैध पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट का वीडियो है।
Fact:
यह दावा गलत है। वीडियो पश्चिम बंगाल का नहीं है।

पश्चिम बंगाल के मिदनापुर स्थित खड़ीकुल गांव में बीते दिनों एक अवैध पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट में कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। इसी से जोड़ते हुए कई सोशल मीडिया यूजर्स ने एक ब्लास्ट का वीडियो शेयर करते हुए दावा किया कि यह पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले में हुए हालिया विस्फोट का वीडियो है। वीडियो के जरिए पश्चिम बंगाल सरकार पर भी निशाना साधा जा रहा है।

Courtesy: Twitter@Sunil_Deodhar

(आर्काइव लिंक)


Courtesy: Twitter@shripushpendra1

(आर्काइव लिंक)

Fact Check/Verification

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पश्चिम बंगाल में हालिया हुए अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के वीडियो को, वायरल वीडियो में मौजूद फुटेज से तुलना किया। हमें दोनों वीडियो में कोई समानता नहीं मिली। 

इसके बाद हमने Invid टूल की मदद से वायरल क्लिप के कुछ कीफ़्रेम निकाले। एक कीफ्रेम को गूगल लेंस से सर्च करने पर हमें @P4Palakkadan का 17 मार्च, 2022 का एक फेसबुक पोस्ट मिला। 

Screengrab from Facebook post by @P4Palakkadan,

वायरल क्लिप का लंबा वर्जन हमें E Malyalam नामक यूट्यूब चैनल पर 1 अप्रैल, 2022 को अपलोड किए गए एक वीडियो में मिला। वीडियो के टाइटल में मलायलम में लिखा है, “पटाखे बनाने वाली जगह कवासेरी में ‘पूरम दिवस’ के मौके पर 2022 में हुई आतिशबाजी।”

Screengrab from YouTube video by E-Malayalam

इस वीडियो में सुनाई देने वाला ऑडियो वायरल वीडियो में सुनाई दे रही आवाज से मेल नहीं खाता है। Newschecker Malyalam टीम ने इसकी पुष्टि की कि वायरल क्लिप के लंबे वर्जन में मौजूद ऑडियो, असल में मलयालम भाषा में है। इसमें एक व्यक्ति को यह कहते हुए सुना जा सकता है, “मैंने तुमसे कहा था कि यहां खड़ा होना सुरक्षित नहीं है।”

इसके अलावा, ‘YouTube Peedika‘ और ‘ENGLISH WINDOW‘ पर भी यह वीडियो अपलोड किया गया था। इसके मुताबिक यह वीडियो साल भर पुराना केरल के कावेसरी का है।

गौरतलब है कि कवासेरी केरल के पलक्कड़ जिले में आता है और पूरम यहां के मंदिरों में मनाए जाने वाले एक वार्षिक उत्सव है।

इसके अलावा, हमने केरल के कवासेरी के कई वीडियो और तस्वीरों को गूगल पर सर्च किया। हमें वायरल वीडियो मार्च 2022 में Ramakrishnan A V द्वारा गूगल पर अपलोड किए गए एक पेज में मिला। हालांकि, इस वीडियो में वायरल वीडियो वाला ऑडियो मौजूद नहीं है। गूगल इमेज के अनुसार, यह कवासेरी का दृश्य है। 

Screengrab from Google

पड़ताल के दौरान हमें पश्चिम बंगाल पुलिस के ट्विटर हैंडल से 18 मई, 2023 को किया गया एक ट्वीट भी मिला। इसमें वायरल वीडियो का दृश्य भी मौजूद है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने दावे का खंडन किया है। ट्वीट के कैप्शन में लिखा है, “इस वीडियो को कई मीडिया चैनलों और सोशल मीडिया पर एगरा के खादिकुल में हुए विस्फोट का बताकर शेयर किया जा रहा है। दरअसल, यह वीडियो केरल में आयोजित होने वाले पूरम उत्सव का है। पश्चिम बंगाल पुलिस इस तरह की सभी फर्जी खबरों को शेयर न करने की अपील करता है। इसका उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई हो सकती है। ”

Screengrab from Tweet by West Bengal Police

Newschecker स्वतंत्र रूप से वायरल क्लिप में सुनाई दे रहे ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है। हालांकि, वायरल वीडियो कम से कम एक साल पुराना है और केरल के कवासेरी जिले का है।

यह भी पढ़ें: Fact Check: ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने ट्विटर बायो में नहीं किया कोई बदलाव, भ्रामक दावा वायरल

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में स्पष्ट है कि केरल के एक साल पुराने वीडियो को पश्चिम बंगाल की अवैध पटाखा फैक्ट्री में हुए हालिया विस्फोट का बताकर भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Result: False

Our Sources
Facebook Post By @P4Palakkadan, Dated March 17, 2022
YouTube Video By E-Malayalam, Dated April 1, 2022
Google Videos
Tweet By West Bengal Police, Dated May 18, 2023

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular