मंगलवार, जून 18, 2024
मंगलवार, जून 18, 2024

होमFact CheckFact Check: आगरा की मस्जिद में महिला की लाश मिलने की घटना...

Fact Check: आगरा की मस्जिद में महिला की लाश मिलने की घटना को झूठे सांप्रदायिक दावे के साथ किया जा रहा शेयर

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
आगरा की मस्जिद में मिली लाश हिंदू महिला की थी।
Fact
जांच में हमने पाया कि यह दावा फ़र्ज़ी है। मस्जिद मे मिली लाश मुस्लिम महिला की थी।

उत्तर प्रदेश के आगरा में मस्जिद के अंदर से महिला का खून से सना शव मिला था। सोशल मीडिया पर इस शव की विचलित करने वाली तस्वीरों को शेयर करते हुए सांप्रदायिक दावा किया जा रहा है कि आगरा की मस्जिद में मिला शव हिन्दू लड़की का है।

एक एक्स यूज़र ने 28 मई 2024 को शव की तस्वीर को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है, “जिस तरह से साक्षी की हत्या कर दी थी वैसे ही आज आगरा की मस्जिद मे एक और हिन्दू लड़की मारी गई है। बस फर्क इतना है की साक्षी को पत्थर से कुचलते हुए कैमरे मे कैद था और इसका सिर्फ खून मे लथ पथ फोटो आया है हिंदुओ कितनी साक्षी खो कर जागोगे।”

एक्स पोस्ट का आर्काइव यहाँ देखें।

Courtesy: X/@Bharatrastrsena

Fact Check/Verification

वायरल दावे की पड़ताल के लिए हमने ‘आगरा की मस्जिद में मिली महिला की लाश’ की-वर्ड को गूगल पर सर्च किया। इस दौरान हमें इस घटना पर प्रकाशित कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं। रिपोर्ट्स के अनुसार, यह घटना आगरा के ताजगंज क्षेत्र की है। नगला पेमा इलाके की जिस संदली मस्जिद के अंदर से महिला का शव मिला था, वह ताजमहल से करीब 100 मीटर की दूरी पर स्थित है। महिला की उम्र 38 वर्ष बताई गयी है और बताया गया है कि महिला की 18 वर्ष की एक बेटी भी है। महिला स्वेच्छा से हर सुबह मस्जिद की साफ-सफाई करने जाती थी। पुलिस ने जांच के दौरान घटनास्थल के आसपास लगे CCTV कैमरों की जांच में पाया कि सुबह 8 बजे महिला के साथ एक व्यक्ति भी मौजूद था। पुलिस उस व्यक्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस ने आशंका जताई है कि मारपीट के बाद हत्यारे ने किसी भारी चीज से महिला के सिर पर हमला कर उसकी जान ली है।

19 मई की इस घटना पर प्रकाशित किसी भी रिपोर्ट में इसे सांप्रदायिक मामला नहीं बताया गया है।

Report published by theLallantop

पत्रिका द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि महिला को निकाह के दो साल बाद ही पति ने तलाक दे दिया था। जिसके बाद से महिला मायके में रह रही थी और ताजमहल के पास स्थित मस्जिद में कई वर्षों से साफ-सफाई करती थी।

जांच के दौरान हमें आगरा पुलिस कमिश्नर के आधिकारिक एक्स अकाउंट से किया गया पोस्ट मिला, जिसके इस बात की पुष्टि की गयी कि ताजगंज क्षेत्र स्थित मस्जिद में मिली मृतक महिला मुस्लिम है। पोस्ट में आग्रह किया गया है कि समाज में अशांति फैलाने वाले भ्रामक पोस्ट और अफवाह ना फैलाएं।

X post by Police Commissioner of Agra

जांच में आगे हमने आगरा के एक स्थानीय पत्रकार से भी बात की। फ़ोन पर हुई बातचीत में उन्होंने भी इस बात की पुष्टि की है कि मस्जिद में मिली मृतक महिला मुस्लिम थीं।

पढ़ें: Fact Check: क्या राहुल गाँधी के पीछे नजर आ रही तस्वीर ईसा मसीह की है? जानें सच

Conclusion

अपनी जांच से हम इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि आगरा के ताजगंज क्षेत्र स्थित मस्जिद में मिली लाश हिंदू नहीं, बल्कि मुस्लिम महिला की थी। वायरल दावा फर्जी है।

Result: False

Sources
Report published by Patrika on 21st May 2024.
X post by Police Commissioner of Agra on 28th May 2024.
Phonic conversation with local reporter from Agra.

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular