सोमवार, जून 17, 2024
सोमवार, जून 17, 2024

होमFact CheckFact Check: बालासोर ट्रेन दुर्घटनास्थल के पास मौजूद मंदिर की तस्वीर, मस्जिद...

Fact Check: बालासोर ट्रेन दुर्घटनास्थल के पास मौजूद मंदिर की तस्वीर, मस्जिद की बताकर हुई वायरल

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

Claim:
बालासोर में ट्रेन दुर्घटनास्थल के पास एक मस्जिद मौजूद है। 
Fact:
यह दावा भ्रामक है। ट्रेन दुर्घटनास्थल के पास इस्कॉन का मंदिर है।

ओडिशा के बालासोर में हुए ट्रेन हादसे के बाद सोशल मीडिया पर दुर्घटना स्थल की एक तस्वीर काफी वायरल है। इसे सांप्रदायिक दावे के साथ शेयर करते हुए कहा जा रहा कि जिस जगह ट्रेन हादसे हुआ था वहां एक मस्जिद मौजूद है।   

Courtesy: Twitter@Randomsena

(आर्काइव लिंक)

(आर्काइव लिंक)
Courtesy:Facebook/Pankaj Sharma

दरअसल, बीते 2 जून की शाम सात बजे ओडिशा के बालासोर में कोरोमंडल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस रेल दुर्घटना में अबतक 288 लोगों की मौत हो चुकी है। बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार, यह हादसा बालासोर के पास बाहानगा बाजार स्टेशन के पास हुआ। इसमें कोरोमंडल एक्सप्रेस, सर एम विश्वेश्वरैया- हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस के कुल 17 डिब्बे पटरी से उतर गए, जबकि रेलवे स्टेशन पर खड़ी एक मालगाड़ी भी हादसे की चपेट में आ गई। इस हादसे में घायल हुए लोगों का राहत-बचाव कार्य जारी है। रेलवे ने कई हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं।

Fact Check/Verification

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने तस्वीर को रिवर्स सर्च किया। हमें Reuters और Associated Press को क्रेडिट देकर इस ट्रेन हादसे से संबंधित तस्वीरें मिलीं। इन तस्वीरों में घटनास्थल के पास हमें वायरल तस्वीर नजर आई, जिसके ऊपरी हिस्से को ध्यान से देखने पर ‘शिखर’ दिखाई दिया। यह मंदिर का सबसे ऊंचाई वाला हिस्सा होता है। इससे ये प्रतीत होता है कि दुर्घटना स्थल के पास मौजूद यह स्ट्रक्चर एक मंदिर का है। 

Image Courtesy: Associated Press(AP) Image Courtesy: Reuters

इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए हमने दुर्घटना स्थल पर मौजूद न्यूज एजेंसी पीटीआई के संवाददाता सुफियान से संपर्क किया। उन्होंने वायरल तस्वीर देखकर हमें बताया, “यह बालासोर के बाहानगा मार्केट में मौजूद इस्कॉन मंदिर है।”

इसके बाद हमने गूगल मैप पर बाहानगा मार्केट में मौजूद इस्कॉन मंदिर को सर्च किया। गूगल मैप पर मौजूद इस्कॉन मंदिर और दुर्घटना स्थल के बीच की दूरी और वायरल तस्वीर का हमने तुलनात्मक विश्लेषण किया, जिसे नीचे देखा जा सकता है। 

इसके अलावा, बाहनगा मार्केट में एक मोबाइल रिपेयर की दुकान चलाने वाले संजीब से भी हमने संपर्क किया। उन्हें हमने वायरल तस्वीर भेजी। उन्होंने भी वायरल दावे का खंडन किया। उन्होंने कहा, “ये इस्कॉन मंदिर की तस्वीर है। यह हमारी दुकान से 50 मीटर की दूरी पर है। इस मंदिर में पिछले कुछ महीने से निर्माण कार्य चल रहा है। यह मंदिर दुर्घटना स्थल से कुछ 50-100 मीटर की दूरी पर है।” उन्होंने हमें इस्कॉन मंदिर की कुछ तस्वीरें भी भेजी हैं।

Image Courtesy: Balasore local Mobile Shop Owner Sanjib

पड़ताल के दौरान हमने बाहानगा में मौजूद इस्कॉन मंदिर में भी संपर्क किया। मंदिर प्रशासन को हमने व्हाट्सऐप्प पर वायरल हो रहा दावा भेजा। उन्होंने दावे का खंडन करते हुए बताया कि ये इस्कॉन मंदिर की तस्वीर है। 

गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर बालासोर में हुए ट्रेन हादसे के बाद से कई तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हैं। ओडिशा पुलिस ने 04 जून को ट्वीट कर इस घटना को लेकर अफवाह फैलाने वालों और सांप्रदायिक रंग देने वाले लोगों पर कार्रवाई की बात की है।

Conclusion

कुल मिलाकर निष्कर्ष निकलता है कि ओडिशा के बालासोर में हुई रेल दुर्घटनास्थल के पास मौजूद इस्कॉन मंदिर की तस्वीर को मस्जिद बताकर भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 

Result: False

Our Sources
Image Published by Reuters and Associated Press on June 3, 2023
Telephonic Conversation with PTI Correspondent Suffian
Telephonic Conversation with Balasore local Mobile repair shop owner Sanjib
Conversation with Balasore Iskcon Temple Administration
Google Map
Odisha Police Tweet on June 4, 2023

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular