शुक्रवार, जुलाई 26, 2024
शुक्रवार, जुलाई 26, 2024

होमFact Checkकेरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से नहीं रोका गया, भ्रामक...

केरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से नहीं रोका गया, भ्रामक दावा हुआ वायरल

गणेश उत्सव का पर्व गणेश चतुर्थी से आरंभ होता है। गणेश उत्सव 10 दिनों तक चलता है। इस साल यह पर्व 10 सितंबर से लेकर 19 सितंबर तक चलेगा। इस उत्सव को भगवान श्री गणेश के जन्म की खुशी में मनाया जाता है। इस बार कोरोना के चलते सभी राज्य सरकारों द्वारा गणेश उत्सव पर अलग-अलग पाबंदियां लगाई गई हैं। महाराष्ट्र में इस बार पंडालों में दर्शन की अनुमति नहीं है। वहां पर धारा 144 लगाई गई है, जबकि दिल्ली में सार्वजनिक स्थलों पर कोई आयोजन नहीं होंगे। उत्तर प्रदेश सरकार ने आदेश जारी किया है कि किसी भी सार्वजनिक स्थान पर भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना नहीं होगी। वहीं, तमिलनाडु में गणेश चतुर्थी पर किसी भी तरह के उत्सव की इजाजत नहीं है।  

इसी बीच सोशल मीडिया पर गणेश उत्सव से संबंधित कई वीडियो वायरल हो रहे हैं। ऐसे में ट्विटर पर 2 मिनट 20 सेकेंड का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ पुलिसकर्मी जमीन पर बैठे लोगों को जबरन उठा रहे हैं। वीडियो में देखा जा सकता है कि लोग जहां बैठे हैं, वहां पर भगवान गणेश की मूर्ति और पूजा की सामाग्री रखी हुई है। एक पुलिसकर्मी भगवान गणेश की मूर्ति को उठाकर ले जाता हुआ नज़र आ रहा है। इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है, ‘केरल में यह हालात हो गए हैं कि हिंदुओं को गणेश उत्सव का त्योहार मनाने से रोका जा रहा है।’  

केरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से नहीं रोका गया

आर्टिकल लिखे जाने तक उपरोक्त ट्वीट को 355 से ज्यादा लोग रिट्वीट और 315 से ज्यादा लोग लाइक कर चुके हैं। 

वायरल वीडियो को फेसबुक और ट्विटर पर कई अन्य यूज़र्स द्वारा भी शेयर किया गया है। 

केरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से नहीं रोका गया
केरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से नहीं रोका गया

Crowd Tangle टूल पर किए गए विश्लेषण से पता चलता है कि वायरल दावे को सोशल मीडिया पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

केरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से नहीं रोका गया
केरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से नहीं रोका गया

वायरल वीडियो के आर्काइव वर्ज़न को यहां और यहां देखा जा सकता है। 

Fact Check/Verification

क्या केरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से रोका गया, इस दावे का सच जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। कुछ अलग-अलग कीवर्ड्स की मदद से Google सर्च करने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कोई रिपोर्ट नहीं मिली। 

पड़ताल के अगले चरण में हमने InVID टूल की मदद से कुछ कीफ्रेम्स बनाए। एक-एक कीफ्रेम को Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें VCM News नामक YouTube चैनल पर 11 सितंबर, 2021 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला। YouTube पर इस वीडियो को तेलगू भाषा में अपलोड किया गया था, जहां पर इसे हैदराबाद का बताया गया है। 

अधिक खोजने पर हमें Kranthi Mudiraj और Mera Bharat Mahan नामक फेसबुक पेज पर 11 सितंबर, 2021 को पोस्ट किया गया वीडियो मिला। पोस्ट के मुताबिक, हैदराबाद के तेलंगाना राज्य में पुलिस अधिकारियों ने हुप्पगुड़ा की रक्षापुरम सोसाइटी (Rakshapuram Society Property) से भगवान गणेश की मूर्ति को स्थापित करने से रोक दिया था।   

फेसबुक वीडियो में 59 सेकेंड पर Co-Operative सोसाइटी का बोर्ड देखा जा सकता है। बोर्ड पर रक्षापुरम कॉलोनी (Rakshapuram Colony) लिखा हुआ देखा जा सकता है। Google Map की मदद से खोजने पर पता चलता है कि यह कॉलोनी हैदराबाद में स्थित है। 

अधिक जानकारी हासिल करने के लिए हमने संतोष नगर पुलिस थाने (Police Station Santosh Nagar) में संपर्क किया। वहां हमारी बात सब इंस्पेक्टर राजेंद्र (SI Rajender) से हुई। बातचीत में उन्होंने हमें बताया, “वायरल वीडियो हैदराबाद के रक्षापुरम कॉलोनी का है। एक विवादित ज़मीन पर कुछ स्थानीय लोग मूर्ति लगाने के लिए कह रहे थे। दरअसल वहां मौजूद कुछ लोगों का कहना था कि यह किसी की निज़ी संपत्ति है, जबकि कुछ लोगों का कहना था कि यह सोसाइटी की ज़मीन है। इसी को लेकर कुछ लोगों में कहा सुनी हो गई थी, जिसके बाद पुलिस को आकर यह मामला सुलझाना पड़ा था।” 

Read More: अमिताभ बच्चन ने गणपति के मुख दर्शन की पांच साल पुरानी वीडियो क्लिप को अभी का बताकर किया शेयर

Conclusion

हमारी पड़ताल में साफ हो जाता है कि हैदराबाद के वीडियो को केरल का बताकर सांप्रदायिक एंगल के साथ शेयर किया जा रहा है। बता दें कि केरल में हिंदुओं को गणेश उत्सव मनाने से नहीं रोका गया है। 


Result: Misleading


Our Sources

VCM News

Kranthi Mudiraj 

Mera Bharat Mahan

Google Map

Rakshapuram Colony

Phone Verification


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Most Popular