सोमवार, जून 17, 2024
सोमवार, जून 17, 2024

होमFact CheckFact Check: क्या कर्नाटक चुनाव से पहले BJP वोट के लिए बांट...

Fact Check: क्या कर्नाटक चुनाव से पहले BJP वोट के लिए बांट रही है नोट? पुराना है ये वीडियो

Authors

Sabloo Thomas has worked as a special correspondent with the Deccan Chronicle from 2011 to December 2019. Post-Deccan Chronicle, he freelanced for various websites and worked in the capacity of a translator as well (English to Malayalam and Malayalam to English). He’s also worked with the New Indian Express as a reporter, senior reporter, and principal correspondent. He joined Express in 2001.

An Electronics & Communication engineer by training, Arjun switched to journalism to follow his passion. After completing a diploma in Broadcast Journalism at the India Today Media Institute, he has been debunking mis/disinformation for over three years. His areas of interest are politics and social media. Before joining Newschecker, he was working with the India Today Fact Check team.

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे कर्नाटक में BJP वोट के बदले पैसा बांट रही है.

Fact
वीडियो तेलंगाना का है और 2021 का है.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल है जिसके जरिए दावा किया जा रहा कि कर्नाटक चुनाव से पहले BJP वोटरों में पैसा बांट रही है. वायरल वीडियो में एक महिला को सफेद लिफाफे में से 2000 रुपए के कई नोट निकालते देखा जा सकता है. लिफाफे पर बीजेपी का चुनाव चिन्ह कमल के फूल के साथ एक आदमी की फोटो बनी है.

कर्नाटक चुनाव से पहले BJP
Courtesy: Facebook/Viral Post

कर्नाटक में 10 मई 2023 को विधानसभा चुनाव होने हैं. इसी के मद्देनजर ट्विटर और फेसबुक पर ये पोस्ट काफी वायरल है. वीडियो को शेयर करते हुए लोग BJP पर चुनाव में बेईमानी करने का आरोप लगा रहे हैं.

Fact Check/Verification

वीडियो को रिवर्स सर्च करने पर हमें 2021 के ऐसे कई पोस्ट मिले जिनमें वायरल वीडियो मौजूद है. इससे ये कहा जा सकता है कि वीडियो अभी का नहीं, बल्कि पुराना है. पोस्ट्स में बताया गया है कि वीडियो तेलंगाना की हुजूराबाद सीट पर 2021 में हुए उपचुनाव का है. India Ahead News नाम के एक पोर्टल ने इस वीडियो को अपने आधिकारिक ट्विटर पेज से 29 अक्टूबर 2021 को शेयर किया था.

कर्नाटक चुनाव से पहले BJP
Courtesy: Twitter@India Ahead News

इसके बाद हमने ये पता लगाने की कोशिश की कि लिफाफे पर जिस आदमी का फोटो बना है वह कौन है. Google Lens की मदद से मालूम चला कि ये फोटो तेलंगाना बीजेपी नेता एटेला राजेन्द्र की है.

कर्नाटक चुनाव से पहले BJP

कीवर्ड सर्च से हमें एमडी करीम नाम के एक कर्नाटक कांग्रेस नेता का 28 अक्टूबर 2021 का एक ट्वीट भी मिला. ट्वीट में वायरल वीडियो जैसा ही एक दूसरा वीडियो देखा जा सकता है. ट्वीट में करीम ने आरोप लगाया था कि “विश्व की सबसे अमीर पार्टी बीजेपी हुजूराबाद में वोट के बदले 10,000 रुपए दे रही है. वीडियो में एटेला राजेन्द्र की फोटो वाला लिफाफा देखा जा सकता है जो वायरल वीडियो में है.

कर्नाटक चुनाव से पहले BJP
Courtesy: Tweet@MD Kareem’s tweet

यह भी पढ़ें…अडानी समूह को पीएम मोदी के साथ “मित्रता” के कारण जीएसटी में मिली छूट? जानिये सच क्या है

2 नवंबर 2021 को छपी हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, हुजूराबाद विधायक और नेता एटेला राजेन्द्र को भूमि अतिक्रमण के आरोप के चलते तेलंगाना कैबिनेट से हटा दिया गया था. जून 2021 में उन्होंने इस्तीफा दे दिया था. इसकी वजह से उनकी सीट पर उपचुनाव हुआ. राजेन्द्र तेलगू राष्ट्र समिति छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए और 90,533 वोटों से उपचुनाव में जीत गए.

Conclusion

इस तरह साबित हो जाता है कि वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. वीडियो कर्नाटक का नहीं तेलंगाना का है और पुराना है.

Result: False

Our Sources
Tweet by India Ahead News on October 29, 2021
News report by Hindustan Times on November 2,2021
Tweet by MD Kareem on on October 28 2021
Official Facebook page of Eatala Rajender

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Authors

Sabloo Thomas has worked as a special correspondent with the Deccan Chronicle from 2011 to December 2019. Post-Deccan Chronicle, he freelanced for various websites and worked in the capacity of a translator as well (English to Malayalam and Malayalam to English). He’s also worked with the New Indian Express as a reporter, senior reporter, and principal correspondent. He joined Express in 2001.

An Electronics & Communication engineer by training, Arjun switched to journalism to follow his passion. After completing a diploma in Broadcast Journalism at the India Today Media Institute, he has been debunking mis/disinformation for over three years. His areas of interest are politics and social media. Before joining Newschecker, he was working with the India Today Fact Check team.

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular