बुधवार, अगस्त 10, 2022
बुधवार, अगस्त 10, 2022

होमFact CheckWeekly Wrap: सोशल मीडिया पर इस हफ़्ते शेयर किए गए टॉप 5...

Weekly Wrap: सोशल मीडिया पर इस हफ़्ते शेयर किए गए टॉप 5 फेक दावों का Fact Check

पूर्व बीजेपी नेता नूपुर शर्मा द्वारा पैगम्बर मोहम्मद पर दिए गए विवादित बयान को लेकर, इस हफ्ते भी कई फेक दावे शेयर किए गए। देश के कई हिस्सों में जहां नूपुर शर्मा के विरोध में प्रदर्शन हुए तो कुछ जगहों पर उनके समर्थन में भी रैलियां निकाली गईं। इसी प्रकरण को लेकर कई वीडियो तेजी से शेयर होते देखे गए, जिनका सरोकार इस विवाद से था ही नहीं। इसी तरह कई अन्य मुद्दों पर भी सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा शेयर किए गए फेक दावों का सच, इस लेख में पढ़ा जा सकता है।

कश्मीर की वर्षों पुरानी तस्वीरें, नूपुर शर्मा मामले में यूपी पुलिस की कार्रवाई से जोड़कर हुईं वायरल

सोशल मीडिया पर एक घायल युवक की कुछ तस्वीरों को शेयर कर दावा किया गया कि यूपी पुलिस ने इस पत्थरबाज की जमकर पिटाई की है। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

कतर का पुराना वीडियो, नूपुर शर्मा को लेकर चल रहे विवाद के बाद का बताया गया

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि पैगम्बर मोहम्मद पर पूर्व बीजेपी नेताओं द्वारा की गई विवादित टिप्पणी के बाद, Redco International कंपनी भारतीय कर्मचारियों को टिकट देकर घर वापस भेज रही है। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

नूपुर शर्मा के समर्थन में निकाली गई रैली का नहीं है यह वायरल वीडियो

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि जम्मू में हिंदूओं ने नूपुर शर्मा के समर्थन में रैली निकाली। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

ईडी की हिरासत में सत्येंद्र जैन के मुंह से खून निकलने का फर्जी दावा हुआ वायरल

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की एक तस्वीर के साथ दावा किया गया कि ईडी की हिरासत में उनके मुंह से खून निकल रहा था। जब हमने इस दावे की पड़ताल की तो पता चला कि मामला कुछ और ही था। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

यूपी में हुई हिंसा की हालिया ख़बरों से इस वीडियो का नहीं है कोई वास्ता

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि कानपुर में धर्म विशेष के कुछ लोग हथियारों से पुलिस पर खुलेआम फायरिंग कर रहे हैं। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular