गुरूवार, अक्टूबर 6, 2022
गुरूवार, अक्टूबर 6, 2022

होमFact CheckViralक्या हैदराबाद में हुई इफ्तार पार्टी का है ये वायरल वीडियो?

क्या हैदराबाद में हुई इफ्तार पार्टी का है ये वायरल वीडियो?

कोरोना वायरस और महाकुंभ इस समय सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बने हुए हैं। हर दिन कुंभ से जुड़ी कोई न कोई वीडियो और फोटो वायरल होती ही रहती है। क्योंकि लाखों की संख्या में श्रद्धालु कुंभ का हिस्सा बन रहे हैं। सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स महाकुंभ को बीते साल हुए तबलीगी जमात के मुद्दे से भी जोड़ते हुए नजर आते हैं।

इसी बीच सोशल मीडिया पर मस्जिद का एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि हजारों की संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग इस मस्जिद में मौजूद हैं। इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो हैदराबाद का है। जहां पर एक इफ्तार पार्टी में शामिल होने के लिए यह भीड़ इकट्ठा हुई है। कैप्शन में लिखा जा रहा है, ‘कुम्भ देख के ज्ञान बाटने वालो का जी भर गया हो तो ये हैदराबाद की ‘इफ्तारी’ भी देख लेन। चमचे गुलाम- गुलामिनों सेक्यूलरों, क्या सिर्फ हिन्दू धर्म पर ही ज्ञान बाँटने की औकात है??

हैदराबाद में हुई इफ्तार पार्टी
हैदराबाद में हुई इफ्तार पार्टी

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है।

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां देखा जा सकता है।

CrowdTangle पर मिले डाटा के मुताबिक हैदराबाद में हुई इफ्तार पार्टी के इस वायरल तस्वीर को सैकड़ों लोग सोशल मीडिया पर शेयर कर चुके हैं। नीचे हमने हैदराबाद में हुई इफ्तार पार्टी के CrowdTangle डेटा का वीडियो भी दिया है। आप उसमें देख सकते हैं कि सैकड़ों लोगों ने इस वायरल वीडियो को शेयर किया है।

Fact Check/Verification 

वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने वीडियो को InVID टूल की मदद से कुछ कीफ्रेम्स में बदला। फिर हमने एक कीफ्रेम को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो से जुड़ी एक रिपोर्ट UP Tak के यूट्यूब चैनल पर मिली। जिसे 18 अप्रैल 2021 को अपलोड किया गया था। इस रिपोर्ट के मुताबिक वायरल वीडियो यूपी के संभल स्थित अंजुमन इस्लाम मदरसे का है। जहां पर ये लोग इफ्तार पार्टी के लिए नहीं बल्कि मौलाना अब्दुल मोबीन नदवी के जनाजे में एकत्रित हुए थे। 

वायरल वीडियो के बारे में पूरी जानकारी हासिल करने के लिए हमने संभल के एक पत्रकार से संपर्क किया। उसने हमें बताया कि वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा पूरी तरीके से गलत है। ये वीडियो अंजुमन इस्लाम मदरसे का है। दरअसल 16 अप्रैल को सम्भल के दीपा सराय निवासी मौलाना अब्दुल मोबीन की बीमारी के कारण मौत हो गई थी।

जिसके बाद उनका जनाजा मदरसा अंजुमन में लाया गया था। जिसका पता जब वहां मौजूद लोगों को चला तो लोगों ने यहां पर आना शुरू कर दिया। देखते ही देखते हजारों लोगों की भीड़ लग गई। ये वीडियो उसी दौरान का है। इस दौरान उन्होंने हमारे साथ इस वीडियो से जुड़े कई और वीडियो को भी शेयर किया।

वीडियो में दीपा सराय निवासी मौलाना अब्दुल मोबीन के जनाजे को ले जाते हुए साफ तौर पर देखा जा सकता है। ये वीडियो उसी दौरान का है।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक वायरल वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा हैदराबाद में हुई इफ्तार पार्टी पूरी तरीके से गलत है। वायरल वीडियो न तो हैदराबाद का है और न ही इफ्तार पार्टी के दौरान का है। असल में यह वीडियो यूपी के संभल का है। जहाँ दीपा सराय निवासी मौलाना अब्दुल मोबीन के जनाजे में भीड़ एकत्र हो गई थी। 

Read More : क्या पंचायत चुनाव को स्थगित करने के लिए यूपी सरकार ने हाईकोर्ट में दायर की याचिका?

Result: False


Claim Review: हैदराबाद में हुई इफ्तार पार्टी का है ये वायरल वीडियो।
Claimed By: वायरल सोशल मीडिया पोस्ट
Fact Check: False

Our Sources

Self Contact 

Youtube – https://www.youtube.com/watch?v=IoNBPxiCkX0

.


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular