गुरूवार, सितम्बर 16, 2021
गुरूवार, सितम्बर 16, 2021
होमFact CheckWeekly Wrap: इस सप्ताह सोशल मीडिया पर वायरल हुए टॉप 5 फेक...

Weekly Wrap: इस सप्ताह सोशल मीडिया पर वायरल हुए टॉप 5 फेक दावों का Fact Check

देश के अलग-अलग हिस्सों में मानसून जमकर बरस रहा है और तबाही मचा रहा है। जिसकी कई तस्वीरें और वीडियो लगातार सामने आ रहे हैं। लेकिन इसी बीच सोशल मीडिया पर पुरानी तस्वीरें और वीडियोज भी गलत दावों के साथ वायरल हो रहे हैं। एक तरफ जहां सोशल मीडिया पर इस सप्ताह बारिश से मची तबाही चर्चा का विषय रही। तो वहीं, दूसरी तरफ पाकिस्तान में अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी के अगवा होने की खबर भी खूब सुर्खियों में रही, जिससे जुड़े कई फेक दावे वायरल हुए। हमारी टीम ने सोशल मीडिया पर वायरल हुए कुछ ऐसे ही फेक दावों की पड़ताल करके, उनका सच दुनिया के सामने रखा है।

क्या पानी से भरे शोरूम की यह तस्वीर मुंबई की है?

पानी से लबालब भरे कपड़ों के एक शोरूम की तस्वीर को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर मुंबई की है, जहां पर इन दिनों बारिश कहर ढा रही है। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल दावा गलत है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया का पुराना वीडियो गलत दावे के साथ हुआ वायरल

ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि मंत्री बनने के बाद सिंधिया पहली बार ग्वालियर पहुँचे, तो लोगों ने उनका स्वागत ऐतिहासिक तरीके से किया। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वीडियो साल 2020 का है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

क्या जिमपाई-जिमपाई नामक पौधे के संपर्क में आने से आत्महत्या कर लेते हैं लोग?

सोशल मीडिया पर जिमपाई-जिमपाई नामक पौधे को लेकर दावा किया जा रहा है कि इस पौधे के संपर्क में आते ही लोग आत्महत्या कर लेते हैं। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल दावा गलत है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

बांग्लादेश के जूलूस की पुरानी तस्वीर AIMIM मुखिया असदुद्दीन ओवैसी द्वारा यूपी में की गई रैली के नाम पर हुई वायरल

सोशल मीडिया पर एक रैली की तस्वीर को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि वायरल तस्वीर असदुद्दीन ओवैसी द्वारा यूपी में की गई रैली की है। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल तस्वीर साल 2019 की है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

पाकिस्तान में अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी के नाम पर टिक टॉक इन्फ्लुएंसर की तस्वीर गलत दावे के साथ वायरल है

कई मीडिया संस्थानों ने एक तस्वीर शेयर कर यह दावा किया कि तस्वीर में दिख रही युवती पाकिस्तान में अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी है, जिसे अगवा कर लिया गया है। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल दावा गलत है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular