गुरूवार, जून 13, 2024
गुरूवार, जून 13, 2024

होमFact CheckWeekly Wrap: बिहार चुनाव से लेकर पाकिस्तानी संसद में लगे मोदी-मोदी के...

Weekly Wrap: बिहार चुनाव से लेकर पाकिस्तानी संसद में लगे मोदी-मोदी के नारों तक, इस हफ़्ते सोशल मीडिया पर वायरल हुए टॉप 5 फेक दावों का फैक्ट चेक

इस सप्ताह सोशल मीडिया पर बिहार चुनाव से लेकर समाज में दरार डालने जैसे कई फेक दावे सुर्ख़ियों में रहे। पाकिस्तानी संसद में कथित रूप से लगे मोदी के नारों से लेकर तेजस्वी यादव द्वारा मतदाताओं को पैसे बांटे जाने तक, कई ऐसे ही दावों ने खूब सुर्खियां बटोरी। हमारी टीम ने ऐसे ही कई फेक दावों का पर्दाफ़ाश किया है।

क्या पाकिस्तान की नेशनल असेम्बली में लगे मोदी के नारे?

सोशल मीडिया सहित देश के कई प्रतिष्ठित समाचार माध्यमों ने एक खबर प्रकाशित करते हुए दावा किया था कि पाकिस्तानी असेम्बली मोदी के नारों से गूंज उठी। हमारी पड़ताल में यह दावा झूठा साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव ने लोगों को बांटे पैसे?

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव की एक वीडियो क्लिप वायरल हो गई। वीडियो में तेजस्वी लोगों को रुपया बांटते हुए नजर आ रहे हैं। दावा किया गया कि उन्होंने मतदाताओं को पैसे बांटे। हमारी पड़ताल में पता चला कि वायरल वीडियो का बिहार चुनाव से कोई वास्ता नहीं है।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या शॉपिंग वेबसाइट Myntra ने अपनी वेबसाइट पर बनाया द्रोपदी के चीरहरण का चित्र?

ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी Myntra को लेकर एक दावा वायरल हो गया। दावा किया गया कि साइट द्वारा द्रोपदी के चीरहरण का चित्र बनाया गया था। हमारी पड़ताल में वायरल दावा झूठा साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

दिल्ली मेट्रो के नाम पर मलेशिया की पुरानी वीडियो क्लिप हुई वायरल।

सोशल मीडिया पर यूजर्स ने एक वीडियो क्लिप शेयर करते हुए दावा किया था कि यह दिल्ली मेट्रो की वीडियो है जहाँ एक महिला पर हमला किया गया है। हमारी पड़ताल में पता चला कि वायरल क्लिप पुरानी है और मलेशिया की है।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

ITBP के जवानों ने दीपावली पर चीनी वस्तुओं के बहिष्कार की नहीं की बात।

सोशल मीडिया पर ITBP के एक पोस्टर के साथ दावा किया गया है कि जवानों ने देश से चीनी वस्तुओं को ना खरीदने की अपील की है। हमारी पड़ताल में वायरल दावा फेक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular