रविवार, अप्रैल 14, 2024
रविवार, अप्रैल 14, 2024

होमFact CheckFact Check: दो सप्ताह में 10 किलो वजन कम करने का दावा...

Fact Check: दो सप्ताह में 10 किलो वजन कम करने का दावा करने वाला यह वायरल पोस्ट फर्जी है

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
एक दवाई खाने से 20 हजार लोगों ने 2 हफ़्तों के अंदर 10 किलो तक वजन कम किया है।
Fact
नहीं, यह दावा फ़र्ज़ी है।

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि एक ख़ास दवाई खाने से 20 हजार लोगों ने 2 हफ़्तों के अंदर 10 किलो तक वजन कम किया है। ये दावा ‘Break Tienda de viajes’ नामक फेसबुक पेज से किया गया है। 16 जनवरी, 2024 को साझा किये गए एक वीडियो को दो दिन में 1500 लोगों द्वारा लाइक किया जा चुका है। हालांकि, वीडियो में किसी दवा का नाम नहीं बताया गया है बल्कि एक लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा गया है।

Courtesy: fb/Break Tienda de viajes

करीब 40 सेकंड के इस वीडियो की शुरुआत में पत्रकार रजत शर्मा को दिखाया गया है, जो कह रहे हैं कि ”मात्र 2 हफ़्तों में 10 किलो तक वजन कम हो जाएगा। ऐसा उस भारतीय डॉक्टर का कहना है, जिन्होंने ये दवाई बनाई है। जो किसी भी मोटापे से परेशान व्यक्ति का मोटापा दूर कर देती है।” इसके बाद वीडियो में मेदांता के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ नरेश त्रेहन दिखते हैं, वे कहते दिखते हैं कि ”मैं इस बात की गारंटी देता हूँ कि इस दवा के पहले प्रयोग से ही आपका वजन सामान्य हो जाएगा और केवल 2 हफ़्तों में 10 किलो तक वजन कम कर लेंगे और मोटापा हमेशा के लिए दूर हो जाएगा और कभी लौट कर नहीं आएगा आप अपना वजन घटता हुआ खुद महसूस करेंगे। जी हाँ, अभी तक 20 हज़ार लोगों ने इसका इस्तेमाल करके मोटापे से छुटकारा पाया है। नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें और अधिक जानें, आज प्रमोशन का आखिरी दिन है।”

Courtesy: fb/Break Tienda de viajes

Fact Check/Verification

पड़ताल की शुरुआत में हमने पाया कि करीब चालीस सेकंड के इस वीडियो में शुरू से अंत तक दाएं कोने में ‘इंडिया टीवी’ का लोगो दिख रहा है। वीडियो के शुरूआती हिस्से में ‘इंडिया टीवी’ के पत्रकार रजत शर्मा के हवाले से दवाई खाने से 2 हफ़्तों के अंदर 10 किलो तक वजन कम करने का दावा किया गया है। इस वीडियो को इंडिया टीवी की एक न्यूज़ रिपोर्ट की तरह दिखाया गया है, इसलिए हमने इंडिया टीवी पर इस न्यूज़ रिपोर्ट को खंगाला। हमें इंडिया टीवी पर ऐसे दावे के साथ की कोई भी मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने एक 2 हफ़्तों में 10 किलो तक वजन कम कर सकने वाली दवाई बनाने के दावे पर पड़ताल की। कई कीवर्ड्स को गूगल सर्च करने पर भी हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली जो इस वायरल दावे की पुष्टि कर सके।

पड़ताल में आगे हमने डॉ नरेश त्रेहन और पत्रकार रजत शर्मा के हवाले से किये गए इस तरह के किसी दावे की पड़ताल की, लेकिन उनकी ओर से ऐसा कोई बयान हमें नहीं मिला। हमने मेदांता की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला, लेकिन वहां भी हमें ऐसा कोई दावा नहीं मिला।

जांच में पूरा वीडियो ध्यानपूर्वक देखने पर हमने पाया कि यह वीडियो एडिटेड है। वीडियो में आवाज को अलग से जोड़ा गया है। साथ ही वीडियो को विश्वसनीय दिखाने के लिए lip movement (होठों की हरकत) को भी एडिटिंग करके शब्दों के उच्चारण के अनुसार ढाला गया है।

जांच में आगे हमने 2 हफ़्तों के अंदर 10 किलो तक वजन कम करने वाली दवाई के बारे में जानकारी पाने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक किया तो हमने पाया कि वहां पर तो फिट रहने के टिप्स दिए गए हैं।

Courtesy: fb/Break Tienda de viajes

यही दावा कुछ समय पहले ‘आजतक’ की एंकर चित्रा त्रिपाठी के हवाले से भी वायरल हुआ था। 8 दिसंबर 2023 को हमारे द्वारा किये गए फैक्ट चेक को आप यहाँ पढ़ सकते हैं।

Conclusion

अपनी जांच में हमने पाया कि एक दवाई के खाने से 20 हजार लोगों द्वारा 2 हफ़्तों के अंदर 10 किलो वजन कम करने का दावा फ़र्ज़ी है।

Result: False

Our Sources
Official Youtube channel of India TV.
Official website of Medanta.
Fact Check published on December 8, 2023

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular