रविवार, अप्रैल 14, 2024
रविवार, अप्रैल 14, 2024

होमFact Checkफरीदाबाद में स्कूली छात्र की पिटाई का वीडियो अयोध्या में दलितों के...

फरीदाबाद में स्कूली छात्र की पिटाई का वीडियो अयोध्या में दलितों के साथ भेदभाव के दावे से वायरल

Claim
अयोध्या राम मंदिर महोत्सव में पुष्प वर्षा करने पर आयोजकों ने दलित समाज के बच्चे को पीटा.

Fact
नहीं, यह वीडियो हरियाणा के फरीदाबाद का है.

सोशल मीडिया पर दो व्यक्तियों द्वारा स्कूली ड्रेस पहने एक छात्र को पीटने का वीडियो वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो को इस दावे से शेयर किया जा रहा है कि “अयोध्या राम मंदिर महोत्सव में पुष्प वर्षा करने पर आयोजकों ने दलित समाज के बच्चे को पीटा”.

हालांकि हमने अपनी जांच में पाया कि यह वीडियो अयोध्या का नहीं, बल्कि हरियाणा के फरीदाबाद के एक स्कूल में दो शिक्षकों द्वारा एक छात्र की पिटाई किए जाने का है.

वायरल वीडियो क़रीब 47 सेकेंड का है. वीडियो में दो व्यक्ति स्कूल ड्रेस पहने एक बच्चे को पीटते नज़र आ रहे हैं. पिटाई का कारण पूछे जाने पर बच्चा फूल फेंकने की बात कहता है और अपना नाम बताता है. 

वीडियो को फ़ेसबुक पर वायरल दावे वाले कैप्शन के साथ शेयर किया गया है, जिसमें लिखा हुआ है “अयोध्या राम मंदिर महोत्सव में पुष्प वर्षा करने पर दलित समाज के बच्चे को आयोजको ने पीटा. यह है आज का सच और कहते हैं हिंदू खतरे में है”.

अयोध्या राम मंदिर महोत्सव में पुष्प वर्षा करने पर आयोजकों ने दलित समाज के बच्चे को पीटा
  Courtesy: FB/ओबीसी महासभा मध्यप्रदेश कि आवाज

यह वीडियो हमें हमारे व्हाट्सएप टिपलाइन नंबर पर भी प्राप्त हुआ है.

Fact Check/Verification

Newschecker ने वायरल वीडियो की पड़ताल के लिए सबसे पहले वीडियो के कीफ्रेम की मदद से रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें 23 दिसंबर 2023 को दैनिक भास्कर की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में वायरल वीडियो भी मौजूद था.

Courtesy: Dainik Bhaskar

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, बीते 22 दिसंबर 2023 को फरीदाबाद के राजीव कॉलोनी का रहने वाला और गौंछी के सरकारी सीनियर सैकंडरी स्कूल में पढ़ने वाला एक छात्र दो दिवसीय गीता जयंती का प्रोग्राम देखने गया था. इस दौरान उसके साथ स्कूल के अन्य विद्यार्थी भी मौजूद थे. तभी स्कूल के दो टीचर रवि मोहन और कमल ने उस छात्र पर लड़कियों के ऊपर फूल फेंकने का आरोप लगाकर उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी.

बाद में पिटाई का वीडियो सामने आने पर स्कूल की प्रिंसिपल निर्मला ने इसको गलत ठहराते हुए कहा था कि अधिकारियों के आदेश पर शिक्षकों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी. रिपोर्ट में छात्र की मां का भी बयान मौजूद था. मां के अनुसार, पिटाई के बाद उसके बेटे के कान और पीठ में काफ़ी दर्द हो रहा था. जिसके बाद उसका इलाज बल्लभगढ़ के सरकारी स्कूल में कराया गया था.

जांच में हमें यह भी जानकारी मिली कि ईटीवी भारत ने भी 24 दिसंबर 2023 को इस विषय पर एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी. इस रिपोर्ट में भी वीडियो को फरीदाबाद का ही बताया गया है.

Courtesy: ETV Bharat

इस दौरान हमें एक स्थानीय पोर्टल पर प्रकाशित रिपोर्ट भी मिली. रिपोर्ट में फरीदाबाद पुलिस के प्रवक्ता सूबे सिंह के हवाले से बताया गया था कि शिकायत मिलने और बच्चे के बयान पर जूवेनाइल एक्ट एवं आईपीसी की अलग-अलग धाराओं के तहत अध्यापकों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है.

अपनी जांच में हमने फ़रीदाबाद सेंट्रल पुलिस स्टेशन के एसएचओ रणवीर सिंह से भी संपर्क किया, जहां यह मामला दर्ज किया गया था. उन्होंने हमें इस दौरान बताया कि “यह घटना फरीदाबाद की ही है और इस मामले में पीड़ित छात्र दलित नहीं है”.

इस दौरान हमें अयोध्या पुलिस द्वारा किया गया एक ट्वीट भी मिला, जिसमें वायरल दावे का खंडन करते हुए उक्त वीडियो को हरियाणा के फरीदाबाद का ही बताया गया है.

Conclusion

जांच में मिले साक्ष्यों के अनुसार, यह वीडियो अयोध्या का नहीं बल्कि हरियाणा के फरीदाबाद के एक स्कूल के दो शिक्षकों द्वारा एक छात्र की पिटाई किए जाने का है.

Result: False

Our Sources
Report Published by Dainik Bhaskar on 23rd Dec 2023
Report Published by ETV Bharat on 23rd Dec 2023
Report Published by Faridabad Live on 26th Dec 2023
Telephonic Conversation with Faridabad Central Police Station SHO


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular