शुक्रवार, अप्रैल 19, 2024
शुक्रवार, अप्रैल 19, 2024

होमFact CheckFact Check: पश्चिम बंगाल के बदुरिया में हुई 4 साल पुरानी घटना...

Fact Check: पश्चिम बंगाल के बदुरिया में हुई 4 साल पुरानी घटना का वीडियो भ्रामक दावे के साथ वायरल

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
पुलिस द्वारा महिला के साथ की गई बदसलूकी का यह वीडियो पश्चिम बंगाल के संदेशखाली की हालिया घटना का है।
Fact
यह वीडियो साल 2020 में पश्चिम बंगाल के बदुरिया में हुई घटना का है।

महिला के साथ पुलिसकर्मी द्वारा की जा रही हिंसा की घटना का विचलित करने वाला वीडियो पश्चिम बंगाल के संदेशखाली की हालिया घटना बताते हुए सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है। हालांकि, अपनी जांच में हमने पाया कि यह वीडियो करीब 4 साल पुराना है और पश्चिम बंगाल के बदुरिया में हुई एक घटना का है।

ज्ञात हो कि पश्चिम बंगाल में उत्तर 24 परगना का संदेशखाली इलाका बांग्लादेश की सीमा से जुड़ा हुआ है। संदेशखाली के स्थानीय तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख पर संदेशखाली में महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न करने के आरोप लगे हैं। शाहजहां करीब दो महीने से गिरफ्तारी से बचकर भाग रहा था, जिसे 29 फरवरी, 2023 को गिरफ्तार कर लिया गया।

इसी संदर्भ में 1 मार्च 2024 को सुधीर मिश्रा नामक एक वेरीफाइड एक्स (पूर्व में ट्विटर) हैंडल द्वारा एक पोस्ट शेयर किया गया है। पोस्ट में शेयर किये गए 13 सेकंड के वीडियो में एक पुलिसकर्मी द्वारा महिला के साथ हिंसा होती हुई दिख रही है। इस वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है कि ‘देखो पश्चिम बंगाल के “हैवानों” को। बहन बेटियों को पुलिस और शेख के गुंडे कैसे पीट रहे हैं, ताकि वह डरकर आवाज ना उठायें…शाहजहां जैसा रेपिस्ट पुलिस सुरक्षा में सीना तानकर चलता है, और पीड़ित महिलाओं पर लाठियां बरस रही हैं।’

Courtesy: X/@Sudhir_mish

Fact Check/Verification

इस दावे की जांच के लिए हमने वीडियो के की-फ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। परिणाम में हमें 22 अप्रैल 2020 को ANI द्वारा शेयर किए गए एक्स पोस्ट में वायरल वीडियो का हिस्सा देखने को मिलता है। ANI द्वारा शेयर किए गए 1:02 मिनट के वीडियो के शुरुआती 13 सेकण्ड्स में वायरल वीडियो का हिस्सा देखा जा सकता है। ANI की पोस्ट के कैप्शन में बताया गया है कि यह घटना पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना के बदुरिया की है, जहाँ कोरोनोवायरस लॉकडाउन के बीच राशन सामग्री के अनुचित वितरण का आरोप लगाते हुए स्थानीय लोगों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया था, जिसके बाद पुलिसकर्मियों के साथ झड़प हुई और यह वीडियो उसी समय का है।

Courtesy: ANI

कुछ कीवर्ड्स को गूगल सर्च करने पर हमें पश्चिम बंगाल के बदुरिया में हुई इस घटना पर प्रकशित बंगाली रिपोर्ट्स मिलीं। 22 अप्रैल 2020 को आनंदबाजार पत्रिका द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में कोविड लॉकडाउन के दौरान हुई इस घटना के बारे में विस्तार से बताया गया है।

22 अप्रैल 2022 क़ो ही बंगाली समाचार चैनल एबीपी आनंद द्वारा इस घटना के वीडियो के साथ प्रकाशित रिपोर्ट में भी यही जानकारी दी गयी है। 22 अप्रैल, 2020 को बदुरिया नगर पालिका के वार्ड नंबर 9 के तारागुनिया इलाके में स्थानीय निवासियों के एक समूह ने कोविड लॉकडाउन के दौरान राशन के अनुचित वितरण का आरोप लगाते हुए खोलापोटा-बदुरिया सड़क को अवरुद्ध कर दिया था। स्थानीय निवासियों के अनुसार, जब बदुरिया थाने की पुलिस सड़क की नाकाबंदी हटाने के लिए पहुंची, तो उन्होंने कथित तौर पर प्रदर्शनकारियों पर हमला किया और उन्हें अंधाधुंध पीटना शुरू कर दिया। यह वीडियो उसी समय का है, जब पुलिस वहां की नाकाबंदी हटाने के लिए पहुंची थी।

Conclusion

जांच से हम इस निष्कर्ष पर पहंचते हैं कि महिला के साथ पुलिस द्वारा की गई अभद्रता का यह वीडियो करीब 4 साल पुराना है। अब इस वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Result: Missing Context

Sources
X post by ANI on 22nd April 2020.
Report by Anand Patrika on 22nd April 2020.
Report by ABP Ananda on 22nd April 2020.

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular