बुधवार, जुलाई 24, 2024
बुधवार, जुलाई 24, 2024

होमFact CheckViralWeekly Wrap: इस सप्ताह सोशल मीडिया पर वायरल हुए टॉप 5 फेक...

Weekly Wrap: इस सप्ताह सोशल मीडिया पर वायरल हुए टॉप 5 फेक दावों का Fact Check

महंगाई और सरकारी नौकरियों से जुड़े कई फेक दावे इस हफ्ते सोशल मीडिया पर सुर्खियों में रहे। एक तरफ जहां सोशल मीडिया पर यूजर्स ने रेलवे को लेकर दावा किया कि बीते 6 सालों से कोई भर्ती नहीं की है। तो वहीं, दूसरी तरफ ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक वीडियो को शेयर कर दावा किया गया कि मंत्री बनते ही सिंधिया ने सरकार के खिलाफ बोलना शुरू कर दिया। हमारी टीम ने सोशल मीडिया पर वायरल हुए कुछ ऐसे ही फेक दावों की पड़ताल करके, उनका सच दुनिया के सामने रखा है।

क्या रेलवे ने बीते 6 सालों से नहीं की कोई भर्ती?

सोशल मीडिया पर रेलवे को लेकर एक दावा किया गया कि रेलवे ने बीते 6 सालों से कोई भर्ती नहीं की है। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल दावा गलत है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

क्या केंद्र में मंत्री बनने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मोदी पर साधा निशाना?

सोशल मीडिया पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि मंत्री बनते ही, उन्होंने पीएम मोदी के खिलाफ बोलना शुरू कर दिया है। हमारी पड़ताल में वायरल दावा फेक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।     

क्या राहुल गांधी को चुना गया दुनिया का तीसरा सबसे विश्वसनीय नेता?

सोशल मीडिया पर बीबीसी के एक स्क्रीनशॉट को शेयर कर दावा किया गया कि राहुल गांधी को दुनिया का तीसरा सबसे विश्वसनीय नेता चुना गया है। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

क्या फिल्म अभिनेता अरबाज खान के जुड़वा भाई हैं टेनिस प्लेयर रोजर फेडरर?

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर कर दावा किया गया कि टेनिस प्लेयर रोजर फेडरर, सलीम खान के चौथे बेटे हैं और फिल्म अभिनेता अरबाज खान के जुड़वा भाई हैं। हमारी पड़ताल में वायरल दावा गलत साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

क्या कैबिनेट में जगह नहीं मिलने पर कांग्रेस में शामिल हुए मेनका और वरूण गांधी?

सोशल मीडिया पर भाजपा के दो बड़े चेहरों को लेकर दावा किया गया कि कैबिनेट में जगह नहीं मिलने पर, भाजपा नेता मेनका गांधी और वरूण गांधी कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। कांग्रेसियों ने वरूण और मेनका गांधी का जमकर स्वागत किया। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल दावा गलत है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Most Popular