मंगलवार, जून 18, 2024
मंगलवार, जून 18, 2024

होमFact Checkक्या लॉकडाउन का नियम तोड़ने पर इस छोटे बच्चे को इंदौर पुलिस...

क्या लॉकडाउन का नियम तोड़ने पर इस छोटे बच्चे को इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल?

कोरोना के आतंक को कम करने के लिए राज्य सरकारें अपने कुछ शहरों में लॉकडाउन लगा रही हैं। इन्हीं में से एक मध्य प्रदेश का एक शहर इंदौर भी है। जहां 3 मई तक के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। लोगों को सिर्फ जरूरी कार्यो के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति दी गई है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक छोटे बच्चे की तस्वीर काफी वायरल हो रही है। जिसमें वह अपने हाथों में आटे का एक पैकेट और तेल का डिब्बा पकड़कर गाड़ी में बैठा हुआ है।

इस तस्वीर को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि, ये तस्वीर मध्य प्रदेश के इंदौर की है। जहां पर इस बच्चे को पुलिस गिरफ्तार करके लेकर जा रही है, क्योंकि इसने लॉकडाउन के नियम को तोड़ा है। इस तस्वीर को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा जा रहा है, ‘इस बच्चे का अपराध सिर्फ इतना है कि यह अपने परिवार के लिए किराने का सामान लेने निकला था और उसे अस्थाई जेल ले जाया जा रहा है। शर्म करो इंदौर प्रशासन! शर्मनाक।’

कांग्रेस विधायक Kunal Choudhary और मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव और पूर्व विधायक Satyanarayan Patel ने भी इस तस्वीर को इसी दावे के साथ शेयर किया है कि बच्चे को इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल।

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है। इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल का ये दावा फेसबुक और ट्विटर पर भी काफी वायरल हो रहा है। फेसबुक पर वायरल इस दावे को यहां और ट्विटर पर यहां देखा जा सकता है।

 इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल
इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

वायरल तस्वीर की सच्चाई जानने के लिए हमने तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। लेकिन ऐसा करने पर हमारे हाथ कोई जानकारी नहीं लगी। इसके बाद हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च करना शुरू किया। लेकिन ऐसा करने पर भी हमें ज्यादा जानकारी नहीं मिली। हालांकि कुछ देर सर्च करने के बाद हमें वायरल तस्वीर से जुड़ा एक ट्वीट मिला। जिसमें इस तस्वीर के बारे में बताया गया था।  

Aditya Sharma नाम के एक यूजर ने ट्वीट पर एक  इंस्टाग्राम पोस्ट का स्क्रीनशॉट करते हुए बताया है कि ये तस्वीर मध्य प्रदेश के इंदौर की नहीं बल्कि दिल्ली के एक इलाके की है। साथ ही स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए मजदूरों को होने वाली परेशानी के बारे में बताया गया है। 

प्राप्त स्क्रीनशॉट में लिखे कैप्शन से कुछ कीवर्ड बनाते हुए, हमने गूगल पर कुछ और कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें Bharat Nbs नाम के फेसबुक पेज पर असली तस्वीर मिली। इस तस्वीर को फेसबुक पर 19 अप्रैल को शेयर किया गया था। उससे पहले का हमें कोई दूसरा पोस्ट नहीं मिला। इस तस्वीर को शेयर करते हुए एक विस्तृत कैप्शन दिया गया है। जिसमें बताया गया है कि यह तस्वीर दिल्ली की है और यह बच्चा कूड़ा बीनकर कमाए पैसे से अपने घर राशन लेकर जा रहा है। 

Bharat Nbs की इस पोस्ट पर एक यूजर ने कमेंट करते हुए बताया है कि इस तस्वीर को शेयर करते हुए कई सारे दावे किए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि ये तस्वीर इंदौर की है और बच्चे को गिरफ्तार किया गया है। इस कमेंट के साथ ही एक यूट्यूब वीडियो का लिंक भी शेयर किया गया है। जिस पर Bharat Nbs ने रिप्लाई करते हुए इस दावे का खंडन किया है। हालांकि वह वीडियो अब डिलीट किया जा चुका है।

 इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल
इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल ये दावा गलत है।

सर्च के दौरान हमें पता चला कि इस तस्वीर को 19 अप्रैल को दिल्ली में लॉकडाउन लगने से पहले लिया गया है। ये तस्वीर मधुवन चौक के पास ली गई है। ये बच्चा आरटीवी बस में बैठा है और रिठाला इलाके में अपने घर पर जा रहा है। इस तस्वीर को शेयर करने का मकसद दिल्ली में मजदूरों की दुर्दशा को दिखाना है। जो कि इस तस्वीर के फेसबुक कैप्शन से समझा भी जा सकता है।

पड़ताल के दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ा एक ट्वीट जनसंपर्क विभाग इंदौर के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी मिला। जिसे 22 अप्रैल को पोस्ट किया गया था। इस ट्वीट में बताया गया है कि इंदौर के कलेक्टर ने इस मामले की पड़ताल की है और उन्होंने इस दावे को भ्रामक पाया है। इंदौर पुलिस द्वारा जनता कर्फ्यू के समय किसी भी बच्चे को जेल नहीं भेजा गया है।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक वायरल तस्वीर में दिख रहे बच्चे को इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल का दावा गलत है। वायरल तस्वीर मध्य प्रदेश के इंदौर की नहीं बल्कि दिल्ली मधुवन चौक की है। बच्चा पुलिस की गाड़ी में नहीं बल्कि आरटीवी बस में बैठा है और अपने घर जा रहा है। बच्चे को पुलिस द्वारा गिरफ्तार नहीं किया गया है। गलत दावे के साथ तस्वीर को शेयर किया जा रहा है।

Read More : क्या पश्चिम बंगाल चुनाव को लेकर I-PAC ने जारी किया एग्जिट पोल?

Result: False

Claim Review: लॉकडाउन के नियम तोड़ने पर इस छोटे बच्चे को इंदौर पुलिस ने भेज दिया जेल।
Claimed By: कुनाल चौधरी,कांग्रेस विधायक 
Fact Check: False

Our Sources

Facebook-https://www.facebook.com/photo.php?fbid=1657028154684871&set=a.200776670310034&type=3

Twitter-https://twitter.com/Aditya_Adiiiii/status/13851013105092935704

.


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular