शुक्रवार, दिसम्बर 3, 2021
शुक्रवार, दिसम्बर 3, 2021
होमFact CheckViralWeekly Wrap: त्रिपुरा हिंसा से लेकर कई अन्य सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों...

Weekly Wrap: त्रिपुरा हिंसा से लेकर कई अन्य सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों तक, इस हफ़्ते वायरल हुए टॉप-5 फेक दावों का फैक्ट चेक

सोशल मीडिया पर इस सप्ताह भारत-पाक के बीच खेले गए क्रिकेट मैच सहित त्रिपुरा के सम्बन्ध में कई तस्वीरें और वीडियो तेजी से शेयर किये गए। सोशल मीडिया यूजर्स ने कई पुरानी तस्वीरों और वीडियो के साथ अलग-अलग दावे किए, जो हमारी पड़ताल में फेक साबित हुए। हमारी टीम ने राजनीति से लेकर कई अन्य मुद्दों पर इस हफ़्ते वायरल हुए फेक/भ्रामक दावों का फैक्ट चेक किया है।

क्या क्रिकेट में भारत की हार पर अक्षय कुमार और जय शाह ने मनाया जश्न?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो क्लिप शेयर करते हुए दावा किया गया था कि टी-20 विश्वकप में पाकिस्तान के हाथों भारत की हार के बाद, फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के सचिव जय शाह ने जश्न मनाया था। हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या हालिया दिनों में ड्रग्स पैडलर्स ने की समीर वानखेड़े की पिटाई?

सोशल मीडिया पर एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े को लेकर दावा किया गया कि गोरेगांव में ड्रग्स पैडलर्स ने उनकी टीम पर हमला कर दिया। हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या भारत-पाकिस्तान के बीच हुए हालिया मैच के दौरान भारतीय युवती ने लगाया पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो के साथ दावा किया गया कि भारत-पाक के बीच हए हालिया टी-20 मैच के दौरान भारतीय युवती ने पाकिस्तान को सपोर्ट करते हुए पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया। हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

त्रिपुरा के नाम पर शेयर किया गया यूपी का वीडियो

सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया गया कि यह वीडियो त्रिपुरा में हुई एक हिंसा का है। हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या रामबाण योजना के तहत भारत सरकार युवाओं को दे रही है आर्थिक मदद?

सोशल मीडिया पर एक लिंक शेयर करते हुए दावा किया गया कि भारत सरकार देश के युवाओं को रामबाण योजना के अंतर्गत आर्थिक मदद दे रही है। हमारी पड़ताल में वायरल दावा फेक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular