गुरूवार, जून 13, 2024
गुरूवार, जून 13, 2024

होमFact Checkयहां पढ़ें, महात्मा गांधी को लेकर वायरल हुए टॉप 5 फर्जी खबरों...

यहां पढ़ें, महात्मा गांधी को लेकर वायरल हुए टॉप 5 फर्जी खबरों के फैक्ट चेक

महात्मा गांधी की आज 75वीं पुण्यतिथि मनाई जा रही है। उनको लेकर सोशल मीडिया पर विगत कई वर्षों से कई भ्रामक दावे समय-समय पर वायरल होते आए हैं। गांधी जी की एक तस्वीर शेयर कर दावा किया गया कि उन्होंने दक्षिण अफ्रीका से वकालत की डिग्री ली थी, लेकिन हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक निकला। इसके अलावा, एक तस्वीर को शेयर कर कहा गया कि महात्मा गांधी बाबा साहब अम्बेडकर के पैर छू रहे हैं। पड़ताल में यह तस्वीर एडिटेड निकली। सोशल मीडिया पर आए दिन महात्मा गांधी को लेकर शेयर होने वाले टॉप 5 फर्जी दावों का फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

क्या साबरमती आश्रम में लगा था गुजरात का पहला टेलीफोन? महात्मा गांधी को लेकर वायरल हुए इस दावे का सच कुछ और है

सोशल मीडिया पर महात्मा गांधी की एक तस्वीर के जरिए दावा किया गया कि गुजरात में सबसे पहला टेलीफोन किसी बड़े उद्योगपति के घर पर नहीं, बल्कि साबरमती आश्रम में गांधी जी के टेबल पर लगा था। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक निकला। फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

महात्मा गांधी ने दक्षिण अफ्रीका से ली थी वकालत की डिग्री? फर्जी दावा वायरल

महात्मा गांधी की एक तस्वीर शेयर कर दावा किया गया कि महात्मा गांधी ने दक्षिण अफ्रीका से अपनी वकालत की डिग्री हासिल की थी, लेकिन हमारी पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

महात्मा गांधी ने नहीं छुए भीमराव अंबेडकर के पैर, एडिट की गई तस्वीर फिर हुई वायरल

सोशल मीडिया पर महात्मा गांधी की एक तस्वीर वायरल हुई, जिसमें बाबा साहब भीमराव अंबेडकर अपने परिवार के साथ बैठे हैं और उनके सामने गांधी जी झुके हुए हैं। इसे शेयर कर दावा किया गया कि महात्मा गांधी भीमराव अंबेडकर के पैर छू रहे हैं, लेकिन हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक निकला। पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

सरकार ने नहीं चलाई ‘महात्मा गांधी बेरोजगार योजना’ सोशल मीडिया पर वायरल हुआ फेक दावा

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर कर दावा किया गया कि बढ़ती बेरोजगारी को देखते हुए सरकार भारत के बेरोजगारों को घर बैठे रोजगार देगी। कहा गया कि इसको लेकर मोदी सरकार ने महात्मा गांधी बेरोज़गार योजना शुरू की है। लेकिन हमारी पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ। फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

एक कार्टून से आरएसएस द्वारा महात्मा गांधी समेत कई शहीदों के बारे में विवादित टिप्पणी वाला भ्रामक पोस्ट हुआ वायरल

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर कर दावा किया गया कि आरएसएस महात्मा गांधी, सरदार पटेल, सुभाष चंद्र बोस, भगतसिंह एवं चंद्रशेखर आजाद को रावण मानती है। दावे के साथ किसी पत्रिका में छपा एक कार्टून है, जिसमें महात्मा गांधी को 10 सिर में दिखाया गया है तथा सामने से दो व्यक्तियों के द्वारा गांधी को तीर मारते दिखाया जा रहा है। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक निकला। फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular